ओवरलोड वाहनों का परिवहन जारी, सड़कें भी दे रही जवाब, लगाम लगाने में नाकाम जिम्मेदार

ओवरलोड वाहनों का परिवहन जारी, सड़कें भी दे रही जवाब, लगाम लगाने में नाकाम जिम्मेदार

rafi ahmad Siddqui | Publish: Sep, 16 2018 12:07:24 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 12:07:25 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

तीन तीन थानों में सामने से गुजरते है वाहन

छतरपुर। शहर की सड़कों पर सरपट दौड़ते ओवरलोड ट्रक व टै्रक्टर वाहन चालकों व राहगीरों के लिए परेशानी का सबब बनते जा रहे हैं। काफी समय से शहर में ओवरलोड परिवहन का खेल बदस्तूर जारी है। लेकिन पुलिस व परिवहन विभाग के अधिकारियों ने इन ओवरलोड वाहन चालकों के खिलाफ कभी कार्रवाई करना तक मुनासिब नहीं समझी जा रही है। शहर में ट्रैक्टर, ट्रकों, बसों, कार आदि ओवरलोड वाहनों का परिवहन के मामले लम्बे समय से बढ़ रहे हैं। हालांकि इस सम्बन्ध में पुलिस प्रशासन व जिला परिवहन अधिकारी को लोगों ने शिकायत भी की गई हैं। लेकिन नतीजा सिफर रहा। ओवरलोड वाहनों से उड़ती धूल के कारण दो पहिया वाहन चालकों को भी खासी समस्या का सामना करना पड़ता है। इससे कई बार दो पहिया वाहन चालक दुर्घटनाओं के शिकार हो चुके हैं। यह सिलसिला पिछले काफी समय से चल रहा है। शहर के सागर रोड, नौगांव रोड महोबा रोड, सटई रोड, देरी रोड पर हर पांच दस मिनट में ओवरलोड वाहन गुजरता है। वहीं शहर के पुलिस अधीक्षक व यातायात थाना, पुलिस थाने के आगे से यह वाहन दिनभर गुजरते रहते हैं। बावजूद इसके इनपर कार्रवाई की जहमत नहीं की जाती। बड़े ट्रक की क्षमता 36 रेत की है। लेकिन इसमें 40 टन रेत भरी जाती है। इसी तरह छोटे ट्रक की क्षमता 18 टन की है, लेकिन रेत 20 टन भरते हैं। ट्रैक्टर ट्रॉली की क्षमता 6 टन की है। इसमें सात टन तक बजरी भरी जा रही है। हालांकि टै्रक्टर व ट्रक चालकों को रेत से भरे वाहन को तिरपाल से ढकना होता है। जिससे अन्य वाहन चालकों व राहगीरों को परेशानी ना हो। लेकिन इन लोगों की ओर से इन पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

सड़कें दे रही जवाब
ओवरलोड वाहनों के गुजरने से शहर की सड़कें भी जवाब देने लगी हैं। सुबह से रात तक ट्रक व टै्रक्टरों में क्षमता से अधिक सामान भरने से डामर सड़कें जगह-जगह से उखड़ती जा रही हैं। वहीं अधिकारियों का कहना है कि गारंटी अवधि में डामर सड़क क्षतिग्रस्त होने की मुख्य वजह ओवरलोड वाहन ही हैं। वाहन चालक अधिक फेरे करने के चक्कर में वाहन को भी निर्घारित गति सीमा से तेज दौड़ाते हैं। इससे हर समय दुर्घटना की आशंका भी बनी रहती है।

तीन तीन थानों में सामने से गुजरते है वाहन
शहर के सिविल लाइन थाना के सामने से सुबह से शाम तक और रात से लेकर शाम तक रेत से और अन्य बस्तु से भरे वाहन गुजरते हैं लेकिन पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं की जाती है। वहीं ओरछा रोड थाना के सामने से बडी संख्या में ओवरलोड वाहनों को आवागमन किया जा रही है। लेकिन पुलिस द्वारा कार्रवाई करने की जहमत नहीं की जाती है। वहीं शहर के पुलिास अधीक्षक कार्यालय यातायात थाना के सामने से रेत से भरे ओवरलोड वाहनों का आवागमन लगा रहता है।

इनका कहना है
हमारे यहां से किसी प्रकार के ओवरलोड वाहनों का आवागमन नहीं किया जा रहा है। अगर ओवरलोड वाहनों आतेहैं तो उन पर कार्रवाई की जाती है।
मुकेश साक्य थाना प्रभारी ओरछा रोड

इनका कहना है
हमारी टीमों ने कई स्थानों पर चैकिंग के दौरान ऐसे वाहनों में कार्रवाई की गई है जो ओवरलोड पाए गए थे। अभियान लगातार जारी है आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी।
पूणिमा मिश्रा याताया थाना प्रभारी

Overloaded vehicles continue to be transported
Ad Block is Banned