scriptPeople are still careless about the Kovid guide line | कोविड गाइड लाइन को लेकर लोग अब भी लापरवाह | Patrika News

कोविड गाइड लाइन को लेकर लोग अब भी लापरवाह


मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं हो रहा पालन, प्रशासन भी एक दिन कार्रवाई कर हुआ शांत
इधर वैक्सीनेशन प्रीकॉशन, किशोर व अन्य लोगों का वैक्सीनेशन जारी, 23.75 लाख लगे अब तक डोज

छतरपुर

Updated: January 11, 2022 07:05:37 pm

छतरपुर। जिले में एक सप्ताह में कोविड के जीरो से 1६१ केस एक्टिव हो गए हैं। जिला मुख्यालय समेत पूरे जिले में पॉजिटिव मिले हैं। खासतौर पर ग्रामीण इलाके में ज्यादा मरीज सामने आ रहे हैं। जिसमें से गौरिहार ब्लॉक में अबतक सबसे ज्यादा पॉजिटिव मिले। लेकिन विशेषज्ञों व प्रशासन के अलर्ट के बावजूद लोग कोविड गाइडलाइन के पालन को लेकर अब भी लापरवाही बरत रहे हैं। ज्यादातर लोग मास्क ही नहीं पहन रहे। सोशलडिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं हो रहा है। वैक्सीनेशन को लेकर जरूर युवाओं में उत्साह बना हुआ है, लेकिन बुजुर्ग वैक्सीन के प्रति अभी भी उदासीनता दिखा रहे हैं। जिला प्रशासन लोगों को वैक्सीन लगवाने और कोविड गाइडलाइन का पालन करने के लिए लगातार अपील कर रहा है। लेकिन फिर भी लोग समय से जागरुक नहीं हुए तो समस्या बढ़ सकती है।
एक सप्ताह में जीरो से 161 हुए एक्टिव केस
एक सप्ताह में जीरो से 161 हुए एक्टिव केस
कलेक्टर बोले 20 दिन संयम बरतें लोग
छतरपुर कलेक्टर संदीप जी. आर ने लगातार बढ़ रहे कोरोना के मरीजों के मद्देनजर कहा है कि विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर का पीक 31 जनवरी तक आ सकता है इसलिए लोगों को 20 दिन संयम बरतना चाहिए। मास्क लगाएं, भीड़-भाड़ वाली जगहों से दूर रहें, हाथ धोते रहें तभी हम इस तीसरी लहर पर जीत हासिल कर सकते हैं। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. मुकेश प्रजापति लोगों को वैक्सीन के दोनों डोज लगवाने की अपील कर रहे हैं। वहीं 60 प्लस आयु वर्ग के बुुजुर्गो, गंभीर बीमारियों के मरीजों को प्रीकॉशन डोज लगवाने की सलाह दी जा रही है।
पहला डोज सबने लगवाया अब सेकंड पर जोर
जिले में मंगलवार तक कुल 23 लाख 75 हजार 852 डोज लगाए गए। जिसमें 12 लाख 73 हजार ने पहला डोज लगवा लिया है। हालांकि अभी भी पहला डोज न लगवाने वाले 20 हजार लोग बाकी है। वहीं जिले में अब तक 11 लाख 473 ने सेकंड डोज लगवाया है। लेकिन अभी भी जिले में 1 लाख 63 हजार लोगों को सेकंड डोज लगाया जाना बाकी है। हालांकि टीनेजर्स व 18 से 44 आयु वर्ग ने सबसे ज्यादा वैक्सीन लगवाने में रुचि दिखाई है। जिले में 14 लाख 92 हजार वैक्सीन की डोज युवाओं ने लगवाई है। वहीं दो दिन में 1832 लोगों ने प्रीकॉशन डोज लगवाया है।

सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं हो रहा पालन
तीसरी लहर को लेकर जहां सरकार की तरफ से बचाव के निर्देश दिए जा रहे हैं तो प्रशासनिक अफसर भी अभी से तैयारी में जुटे हुए हैं। कोरोना की तीसरी लहर से लापरवाह दिख रहे लोग न तो मास्क पहनने को तैयार हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। मास्क तो दूर सेनेटाइजर का इस्तेमाल भी लोग भूल चुके हैं। भीड़ से परहेज करने की बजाय लोग नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए समूह में बाजारों में पहुंच खरीदारी कर रहे हैं। कई लोगों के मास्क भी नाक के नीचे लटके रहते हैं। दुकान तथा बाजार में पहले की तरह ही सामान की खरीद को लेकर आपा-धापी है। शारीरिक दूरी का कोई मतलब यहां नहीं दिखता है।

शहर के सभी हिस्सो में नजर आ रही लापरवाही
शहर की सड़कों पर पैदल, साइकिल, दो पहिया और चार पहिया वाहन से आवागमन करने वाले ज्यादातर लोग बिना मास्क के नजर आने लगे हैं। शहर के प्रमुख मार्गो पर किसी भी समय बिना मास्क के गुजरते लोग नजर आ जाते हैं। वहीं, प्रशासन ने मास्क को लेकर चालानी कार्रवाई भी बंद कर दी है, इस वजह से लापरवाह लोग और ज्यादा लापरवाही कर रहे हैं। चालान के डर से ही सही, लोग मास्क लगाए रहते थे, जिससे न केवल वे सुरक्षित थे, बल्कि उनके संपर्क में आने वाले लोग भी सुरक्षित रहे। लेकिन अब बिना मास्क के दूसरों के संपर्क में आने वाले लोगों की संख्या दिन प्रति दिन बढ़ रही है।

फैक्ट फाइल
टारगेट आबादी- 12.63 लाख
फस्र्ट डोज लगे- 12.73
फस्र्ट डोज ड्यू- 20 हजार
सेकंड डोज लगे- 11 लाख
सेंकड डोज ड्यू- 10 हजार
कुल डोज लगे- 23.75 लाख

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: आज होगी वीरता पुरस्कारों की घोषणा, गणतंत्र दिवस से पूर्व राजधानी बनी छावनीशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयUP Election 2022: आगरा कैंट सीट से चुनाव लड़ेंगी एक ट्रांसजेंडर, डोर-टू-डोर अभियान शुरूछत्तीसगढ़ में 24 घंटे में 19 मरीजों की मौत, जनवरी में ये आंकड़ा सबसे ज्यादा, इधर तेजी से बढ़ रही एक्टिव मरीजों की संख्यागणतंत्र दिवस को लेकर कितनी पुख्ता राजधानी में सुरक्षा? हॉटस्पॉट्स पर खास सिस्टम से होगी निगरानीUttar Pradesh Assembly Elections 2022: ...तो क्या सूबे की सुरक्षित सीटें तय करेंगी कौन होगा यूपी का शाहंशाहUttar Pradesh Assembly Elections 2022: शह और मात के खेल में डिजिटल घमासान, कौन कितने पानी में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.