कच्ची शराब बनाने अडडे पर पुलिस का छापा,22 ड्रम लहान किया नष्ट

रसेड़ स्थित कबूतरों के डेरे पर कार्रवाई, 20 ली कच्ची शराब भी जब्त

By: Dharmendra Singh

Published: 16 Oct 2020, 10:36 PM IST

छतरपुर। उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 36 घंटे में 14 लोगों की मौत के बाद छतरपुर जिले में नकली एवं जहरीले शराब बनाने वालों के विरुद्ध पुलिस ने अभियान शुरु कर दिया है। पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा के निर्दश पर चलाये जा रहे विशेष अभियान के तहक थाना हरपालपुर नगर निरीक्षक याकूब खान, एसआई विकास सिंह गहरवार ने पुलिस बल के साथ थाना क्षेत्र अंतगर्त सरसेड़ में क्रेशरों के पास स्थित कबूतर डेरा पर छापेमारी की। पुलिस ने भारी मात्रा में लहान एवं अन्य शराब बनाने की सामग्री को नष्ट किया। थाना पुलिस की कार्यवाही भनक लगते ही कबूतरों के ठिकाने से महिलाएं पुरुष भाग गए, लेकिन कार्यवाही के दौरान थाना पुलिस ने शराब बनाने के लिये छिपा कर रखे 22 ड्रम लहान एवं जलती शराब की भट्टियों को जब्त कर नष्ट कर दिया। साथ ही 60 वर्षीय महिला गुलाब बाई पत्नी सुनील कबूतरा से 20 ली कच्ची शराब कीमती 2 हजार रुपए जब्त कर आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

आबकारी ने भी जब्त किया था लहान
हरपालपुर के सरसेड़ इलाके में 1 अक्टूबर को आबकारी विभाग ने भी छापेमारी की थी, जिसमें 20 हजार लीटर लहान, 70 लीटर तैयार कच्ची शराब जब्त की गई थी। 15 दिन के अंदर पुलिस की कार्रवाई में भी 22 ड्रम लहान जब्त किया गया। इसके पहले भी पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान अवैध शराब निर्माण के इस अड्डे पर छापा मारा था। लेकिन पुलिस व आबकारी की कार्रवाई लगातर न होने से अवैध शराब निर्माण रुका नहीं है।

अन्य गांवों में भी बन रही कच्ची शराब
हरपालुर इलाके में उत्तरप्रदेश से सटे गांवों में अवैध रुप से शराब बनाने का कारोबार किया जा रहा है। इस इलाके में कच्ची शराब बनाने का धंधा लगातार चल रहा है। पुलिस व आबकारी की एक्का-दुक्का कार्रवाई से अवैध कारोबार बंद नहीं हो रहा है। इस इलाके में अभियान चलाकर लगातार कार्रवाई की जरूरत है। सरसेड़ के अलावा इमलिया, पपटुआ और कराटा गांव के खेतों में भी अवैध रुप से शराब बनाने का काम किया जा रहा है। जहां अभी तक पुलिस व आबकारी ने कार्रवाई नहीं की है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned