scriptPolice stations are not safe in chhatarpur city | इस शहर में सुरक्षित नहीं हैं थाने, परिसर में खड़े जब्त वाहनों की ही नहीं हो पा रही सुरक्षा | Patrika News

इस शहर में सुरक्षित नहीं हैं थाने, परिसर में खड़े जब्त वाहनों की ही नहीं हो पा रही सुरक्षा

किसी वाहन की बैटरी तो किसी के पहिये हो जाता हैं गायब।

छतरपुर

Published: July 27, 2022 06:48:22 pm

छतरपुर. जिले के थाना परिसरों में चोरी, घटना सहित अन्य प्रकरण में जब्त किए वाहन नीलामी के अभाव में कबाड़ होते जा रहे हैं। थानों में करीब सैकडों वाहन खड़े हुए हैं। नीलामी प्रक्रिया में लंबा समय निकल जाने के कारण अधिकतर वाहनों की हालत तो पड़े-पड़े ही खराब हो गई है। वहीं अधिकांश वाहनों का सामान गायब होता जा रहा है। हालात हैं कि किसी वाहन की बैटरी गायब हो रही है तो किसी की सीट और अन्य सामान।

News
इस शहर में सुरक्षित नहीं हैं थाने, परिसर में खड़े जब्त वाहनों की ही नहीं हो पा रही सुरक्षा

छतरपुर जिला मुख्यालय में चार थानों के साथ जिले में कुल 34 पुलिस थाना और 22 पुलिस चौकियां हैं, जहां पर क्षेत्र के चोरी, घटना सहित अन्य प्रकरण में जब्त किए गए वाहनों को रखा जाता है और मामले के निबटने तक थाना में ही वाहन रखा रहता है। ऐसे में लम्बे समय तक धूप बारिश के मौसम में खराब होते रहते हैं। ऐसे में वाहन दिन ब दिन खराब होते रहते हैं। जिससे उनके मालिक शुरुआत में तो वाहन छुडाने की कोशिश करते हैं लेकिन लम्बा समय होने के बाद वह भी चिंता छोड़ देते हैं। ऐसे में वाहनों के कई सामान गायब हो जाते हैं। वहीं कडी मशक्कत के बाद जिनको भी वाहन मिल जाता है तो वह और पुलिस के चक्कर में नहीं पडऩे से वाहनों को थाना से बाहर लाकर गायब हुआ सामान डलवाते हैं।

मालिक नहीं आते वाहन लेने: पुलिस की ओर से छिटपुट दुर्घटना या अन्य मामले में वाहन को जब्त करने के बाद थाने में खडा कर दिया जाता है। चोरी होने वाले वाहन भी ज्यादातर बीमा शुदा होते हैं। वाहन मालिक वाहन का बीमा होने से बीमा कंपनी से क्लेम की राशि उठा लेते हैं और जब्त वाहन को छुड़वाने नहीं आते हैं। इससे जब्त वाहनों की तादाद दिनों दिन बढ़ती जा रही है।

यह भी पढ़ें- रहस्यमयी ढंग से यहां अचानक जमीन में हो गया गड्ढा, लगातार बढ़ रही गहराई से लोगों में देहशत


समय पर नहीं किया जाता निबटान और नीलामी

पुलिस थाना परिसर में जब्त किए गए कुछ वाहन तो बहुत तो अच्छी स्थिति में हैं। अगर इन वाहनों का निबटान या नीलामी समय पर की जाए तो उनकी अच्छी वैल्यू सरकार और वाहन मालिक को मिल सकती है। लेकिन हालात हैं कि समय पर नीलामी नहीं होने की वजह से दिन-ब-दिन हालत खराब होती जा रही है, कई वाहनों के तो सामान गायब होने लगे हैं। इनमें से कुछ वाहनों की तो हालत इतनी खराब हो गई है कि नीलामी प्रक्रिया में भी कोई खरीदार नहीं मिलने की संभावना है। सरकारी प्रक्रिया के पेच में फंसने की वजह से थानों में वाहनों की दुर्दशा और भी खराब होती जा रही है। हालांकि थाना परिसर में जब्त किए गए वाहनों की नीलामी न्यायालय, उच्च अधिकारियों व सरकारी प्रक्रिया के अधीन रहती है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

छतरपुर एएसपी विक्रम सिंह का कहना है कि, वाहनों की नीलामी प्रक्रिया न्यायालय के आदेश से ही होती है, इसलिए वाहनों लम्बे समय तक थानों में रखे रहते हैं। वहीं जब्त वाहनों का सामान गायब हो रहे हैं तो इसको लेकर थाना प्रभारियों से बात कर जानकारी ली जाएगी।

अब राशन दुकान पर कम दाम पर मोबाइल डाटा भी मिलेगा, देखें वीडियो

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें Listबिहार कैबिनेट में अगड़ी जातियों का दबदबा खत्म, भूमिहार से 2 तो ब्राह्मण से मात्र 1 मंत्री, यादव से सबसे अधिक 8 मंत्रीगुजरात में कांग्रेस को बड़ा झटका, 6 MLA बीजेपी में हो सकते हैं शामिलTarget Killing In Kashmir: 'मोदी सरकार कश्मीरी पंडितों की हिफाजत करने में हुई फेल', AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसीJammu-Kashmir: शोपियां में नाम पूछकर आतंकियों ने कश्मीरी पंडितों पर बरसाईं गोलियां, एक की मौत, लश्कर फ्रंट ने ली जिम्मेदारीशर्मनाक हरकत : शव को अस्पताल ले जाने मांगी मदद, तो नगर पंचायत ने भेज दी कचरा गाड़ीJammu-Kashmir: पहलगाम में 39 ITBP जवानों को ले जा रही बस खाई में गिरी, 7 जवान शहीद, अमित शाह ने जताया दुखKejriwal Press Conference: केजरीवाल ने बताया कैसे बनेगा देश का हर गरीब अमीर, इन 4 बड़े कामों पर दिया जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.