video-प्राणिक हीलिंग, आयुर्वेद, योग और जूड़ी-बूटियों पर बड़ा लोगों का भरोसा

- स्वचिकित्सा उत्सव में बेहतर स्वास्थ्य बनाए रखने की विधाएं सीख रहे लोग

By: Neeraj soni

Published: 10 Mar 2019, 07:00 AM IST

छतरपुर। शहर के गांधी आश्रम में मप्र गांधी स्मारक निधि की ओर से आयोजित किए जा रहे 14 वें स्वचिकित्सा के तीसरे दिन शनिवार को शहर के सैकड़ों लोगों ने पहुंचकर स्वस्थ्य रहने के गुर सीखे। इस शिविर में देशभर से लगभग 20 वैद्य, गुणी, हीलर, विशेषज्ञ, लोक चिकित्सा परंपराओं के जानकार और वैकल्पिक चिकित्सा के क्षेत्र में कार्यरत सामाजिक कार्यकर्ता लोगों को प्रशिक्षण दे रहे हैं। शिविर का समापन रविवार को होगा।
शिविर में शहर के लोग भारी संख्या में स्वास्थ्य लाभ लेने गांधी आश्रम पहुंच रहे हैं। जिनको प्राणिक हीलिंग, एक्यूप्रेशर, नाड़ी वैद्य, आयुर्वेद के गुणी अपने विधाओं और दवाओं से लोगों को स्वास्थ्य लाभ कराने का काम कर रहे हैं। बनारस की हीलिंग टीम की अर्चिता कांजीलाल ने बताया कि इस चार दिवसीय शिविर के तीसरे दिन तक लगभग 400 लोग प्राणिक हीलिंग चिकित्सा से स्वास्थ्य लाभ ले चुके है। उन्होंने कहा कि जो भी इस विधा को सीखना चाहता है उसके लिए शिविर में प्रशिक्षण क्लास चलाई जा रही है। डॉ. वेदपाल ने बताया की आयुर्वेद से महिलाओं और पुरूषों दोनों का इलाज बड़ी सहजता से किया जा रहा है। सतना से डॉ. ब्रजवासी भाई लोगों को गौमूत्र एवं जड़ी बूटियों से निर्मित औषधियों से स्वास्थ्य लाभ दे रहें। वैद्य हरिशंकर राय द्वारा एक्यूप्रेषर से पुराने से पुराना जोड़ों का दर्द बड़ी सहजता से ठीक किया जा रहा है। योग प्राणायाम सिखाने का काम रामकृपाल यादव और रहीम के द्वारा सुबह 7 बजे से किया जा रहा है। हिमालय से आए श्रीमंत शंकर स्वामी ने अध्यात्म योग एवं ध्यान के बारे में जानकारी दी।
भोजन से सेहत सुधारने पर भी हो रहे प्रयोग :
शिविर में दिल्ली से आई श्वेता के मार्गदर्शन में जीरो ऑयल कुकिंग में बिना तेल की सब्जी, फलों और मूली गाजर से निर्मित सलाद, मक्का की रोटी, जैविक उड़द की दाल के व्यंजन को परोसा गया। शिविर में संचालित देशज गौशाला के प्रबंधन पर म.प्र. गांधी स्मारक निधि की मंत्री दमयंती पाणी ने विस्तार से जानकारी देकर लोगों पशुपालन के महत्व को बताया और आश्रम में हो रहे जैविक खेती का लोगों को निरीक्षण कराकर बताया कि जैविक खेती आज के समय में स्वास्थ्य और पर्यावरण हितैषी ह।ै इस विषय पर चर्चा सत्र का आयोजन किया गया। जिसमें केन्द्रीय गांधी स्मारक निधि के अध्यक्ष संजय सिंह ने बताया कि जैविक खेती की उत्पादन के उपयोग से मनुष्य के आधे से ज्यादा रोग दूर रहते है। शिविर में गांधी स्मारक निधि के अध्यक्ष दुर्गाप्रसाद आर्य, के.एन. सोमन, प्रेमनारायण मिश्रा, दिनेश मिश्रा, सुधीर अवस्थी, संजय चौधरी, सीमा चौधरी, प्रभात तिवारी, अरूणा अवस्थी, मो.सलीम, रामेश्वर दयाल सोनी, पुष्पेन्द्र भाई, नीलम पांडे, कीर्ती विश्वकर्मा, नीधि त्रिपाठी, विवेक गोस्वामी, अंकित मिश्रा, कृष्णकान्त मिश्रा, विकास मिश्रा आदि लोग उपस्थित रहे।

Neeraj soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned