भाई-बहन के प्रेम से ओतप्रोत रक्षाबंधन का मनाया गया त्योहार

भाई-बहन के प्रेम से ओतप्रोत रक्षाबंधन का मनाया गया त्योहार
Rakshabandhan festival celebrated

Dharmendra Singh | Publish: Aug, 16 2019 04:01:16 PM (IST) Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

भद्रा का साया नहीं होने से दिनभर बांधी गई राखी
प्यार, त्याग और समर्पण के त्योहार की पूरे दिन रही धूम

छतरपुर। देश आजादी की सालगिरह के जश्न के साथ-साथ रक्षाबंधन का त्योहार भी मनाया गया। इस दौरान सुबह से हो रही बारिश ने भी उनका उत्साह कम नहीं कर पाया। बारिश के बाद भी भाई देर शाम तक बहनों तक पहुंच ही गए। भाई-बहन के अटूट रिश्ते, प्यार, त्याग और समर्पण के त्योहार रक्षाबंधन की सुबह शुभ मुहूर्त में पूजा के बाद घर-घर में बहने अपने भाईयों की कलाइयों पर राखी बांधकर उत्सव को मनाती रही। भाइयों ने भी जीवनभर अपनी रक्षा का वचन दिया। पूरे दिन शहर समेत जिले भर में रक्षाबंधन का उत्साह, उमंस देखने को मिला। मिठाई की दुकानों, राखी के बाजार में दिनभर खरीददारी का सिलसिला चलता रहा। बहने भाई के लिए राखी, मिठाई खरीदती और फिर भाइ के घर जाकर अटूट रिश्ते के त्योहार को मनाती नजर आईं।
बाजारों में जमकर हुई ग्राहकी
शहर समेत जिले भर में मिठाई, फल फ्रूट, राखी, जनरल स्टोर्स, कपड़ा, किराना, सर्राफा आदि की दुकानों पर सुबह से ही भीड़ लगी रही। बहनों ने जहां राखियां खरीदी वहीं भाई भी बहनों को देने के लिए उपहार खरीदे।
पूरे दिन रहा उत्सव का माहौल
बहनें थाल में तिलक, फूल, दूब, राखी व दीये के साथ मिठाई सजाकर आसन पर भाइयों को बिठाया और फिर पूजा की प्रक्रिया पूरी कर कलाइयों पर सुंदर से सुंदर रक्षा सूत्र राखी बांधी। उसके बाद आरती कर मुंह मीठा कराया। भाइयों ने भी साथ लाए उपहार बहनों को भेंट किए। जिले में रक्षाबंधन का पवित्र त्यौहार खुशी और शांति से मनाया गया। कई बहनें बारिश के दौरान ही इसी बीच बसों या अपने वाहने से भाई के हाथों में राखी बांधने पहुंची। इस दिन सुबह से शाम तक सड़क पर हलचल रही।
19 वर्ष बाद ऐसा दुर्लभ संयोग
इस बार श्रावण मास में 19 वर्ष बाद दुर्लभ संयोग में स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन पर्व एक साथ मनाया गया। दोनों पर्व का संयोग चंद्र प्रधान श्रवण नक्षत्र के संयोग में मनाया गया। रक्षा बंधन का त्यौहार गुरुवार के दिन होने से इस का धार्मिक महत्व और भी बढ़ गया है।

दिव्यांगों के साथ मनाई राखी
निरवाना फाउंडेशन में रहे रहे दिव्यांग बच्चों के बीच पहुंचकर कैवल्य जागृति संस्थान की महिलाओं ने राखी का त्योहर मनाया। संचालक संजय सिंह ने बताया कि, रक्षाबंधन के दिन बच्चे अपनों को याद करते हैं, ऐसे में बच्चों को पास आकर बहनों ने राखी का त्योहार मनाया तो बच्चों के चेहरे खुशी से खिल उठे। इस अवसर पर सरिता संजय अग्रवाल,गरिमा अग्रवाल,आशीष अग्रवाल, देवेंद्र अनुरागी, धनी रैकवार,हेमलता मोदिया ,रागिनी सिंह तोमर, गीता समेत अन्य लोग उपस्थित थे। इसके साथ ही पुलिस लाइन में भी बहनों ने पुलिस कर्मियों को राखी बांधकर उनकी लंबी उम्र व सुख समृद्धि की कामना की। त्योहार के दिन लोगों की सुरक्षा के लिए मुस्तैद रहने वाले पुलिसकर्मी अपने परिवार से दूर रहते हैं। इन बहनों ने उन्हें राखी बांधकर उनकी सेवाओं के लिए शुक्रिया कहा।
जेल भी मना रक्षाबंधन
जेल में रक्षाबंधन के अवसर पर विशेष इंतजाम किए गए। कैदियों को उनकी बहनों ने राखी बांधकर उनकी लंबी उम्र की कामना की। कैदी भाइयों ने भी जेल से निकलकर अपराध से तौबा करने का वचन दिया और नई जिंदगी की शुरुआत करने का भरोसा दिलाया। इसके साथ ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छतरपुर के कार्यकर्ताओं द्वारा जिला जेल के पुलिस कर्मियों को राखी बांधकर रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया गया। विद्यार्थी परिषद के प्रांत सह मंत्री अंकिता विश्वकर्मा ने बताया कि त्यौहार के समय पुलिस वाले अपने घरों तक नहीं पहुंच पाते हैं, उनकी कलाइयां सुनी ना रहे इसलिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की की बहनों ने जेल में पुलिस कर्मियों को राखी बांधकर यह त्यौहार मनाया। इस अवसर पर विद्यार्थी परिषद के विभाग संयोजक विक्की सिंह तोमर, जिला संयोजक हिमांशु नायक, जिला छात्रा प्रमुख शिवांगी तिवारी, प्रांत कार्यकारिणी सदस्य कविता राज ,नगर मंत्री आदित्य दीक्षित ,नगर छात्रा प्रमुख ख्याति अग्रवाल , नगर एसएफडी प्रमुख संदीप यादव ,नगर क्रीड़ा प्रमुख सिंपी चौरसिया कौशल वर्मा ,रोशन अहिरवार आदि उपस्थित रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned