7.2 फीट लंबे व 11 इंच की हथेली वाले रामकृपाल हैं बुंदेलखंड के खली

26 इंची साइकिल से चलते हैं, दिनभर में खाते हैं ढाई किलो आटे की रोटियां

छतरपुर. यह हैं बुंदेलखंड के खली! उम्र 3५ साल, कद 7 फीट 2 इंच से ज्यादा और वजन लगभग 110 किलो है। यह और बात है कि इन्हें इस खूबी के बावजूद 'द ग्रेट खली की तरह कामयाबी नहीं मिल पाई है। ये गुमनामी की जिंदगी जी रहे हैं। यह हैं छतरपुर जिले के बड़ामलहरा ब्लॉक की घुवारा तहसील के मड़ीखेरा गांव के रामकृपाल उर्फ नंदू विश्वकर्मा। बुंदेलखंड के खली के नाम से मशहूर हो चुके नंदू गुरुवार को छतरपुर में थे। जहां भी वे खड़े हुए, उन्हें देखने वालों का मजमा लग गया। महाबली खली की तरह दिखने वाले नंदू खेती और मकान निर्माण में मिस्त्री का काम कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं।
मड़ीखेरा निवासी सामान्य कद-काठी के सरजू विश्वकर्मा के दो बेटे हैंं। पूरा परिवार सामान्य कद काठी का है। लेकिन उनके दूसरे नंबर के बेटे नंदू का कद पूरे परिवार से अलग है। वे असामान्य कद-काठी के हैं। नंदू कहना है कि 12 साल की उम्र से उसकी लंबाई अचानक बढ़ी और 20 साल की उम्र में उनका कद 7 फीट से ऊपर पहुंच गया। बेतहाशा लंबाई हो जाने के साथ उसके पैर के पंजे एक फीट एक इंच लंबे हैं। इसलिए उन्हें अपने लिए चप्पल-जूत्े विशेष रूप से मोची से बनवाने पड़ते हैं। नंदू की हथेली 11 इंच की है। नंदू की खुराक भी अधिक है, वह दिन में दो से ढाई किलो आटा की रोटियां खा जाते हैं। इतनी ही सब्जी उसकी भूख मिटाने के लिए लगती है। वे २६ इंची साइकिल से चलते हैं।
खली जैसी लोकप्रियता पाने की तमन्ना
नंदू का कहना है कि जब लोग कहते हैं कि वह द ग्रेट खली की तरह दिखता है तो अच्छा लगता है। उसने खली को फोटो सहित पत्र लिखकर मिलने की इच्छा जाहिर की, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया। नंदू की ख्वाहिश है कि वह भी खली की तरह टीवी के पर्दे पर दिखाया जाए। उसे भी वैसी लोकप्रियता मिले, जैसी खली या अन्य विलक्षण लोगों को मिलती है।
मुश्किल से हो पाई शादी
नंदू का कहना है कि लंबाई व असामान्य कद काठी के चलते परिवार के लोग शादी को लेकर काफी परेशान थे। काफी प्रयास के बाद भी कोई लड़की वाला शादी करने को तैयार नहीं था। इस पर वह चार साल पहले दिल्ली से ओडिशा गया था, वहां से सामान्य कदकाठी की समंत्रा देवी नाम की लड़की शादी करने को तैयार हो गई। समंत्रा से विवाह कर नंदू खुश है, उसकी 2 साल की बेटी रामदेवी है जो सामान्य बच्चों की तरह ही है।

हामिद खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned