नंदीबाला मंदिर मे धूमधाम से मनाया गया रंगपंचमी महोत्सव

मनमोहक सजीव झांकी रही आकर्षण का केंद्र
भक्तों ने भगवान संग खेली फूलों की होली

By: Dharmendra Singh

Updated: 03 Apr 2021, 07:52 PM IST

छतरपुर। इंद्रधनुषीय रंगो के पावन पर्व होली के उपलक्ष्य में रंगपंचमी पर सनातन धर्म सेवा समिति एवं नंदीबाला मंदिर पब्लिक ट्रस्ट द्वारा नंदीबाला मंदिर में भव्य होली महोत्सव का आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या मे श्रृध्दालुओं ने भगवान के साथ नाचते गाते हुए होली खेलकर भजनों का आनंद लिया ।
सनातन धर्म सेवा समिति के अध्यक्ष पं. सौरभ तिवारी ने बताया कि प्रेम, उल्लास, भक्ति व भाईचारे के प्रतीक रंगोत्सव पर्व होली के उपरांत रंगपंचमी के शुभ अवसर पर विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी नंदीबाला मंदिर में भव्य होली महोत्सव आयोजित किया गया । भक्तिभाव से परिपूर्ण इस भव्य व दिव्य उत्सव का आनंद देखते ही बनता था। रंगपंचमी महोत्सव में राधा-कृष्ण की सजीव झांकी सजाकर फूलों से जमकर होली खेली गई। रसिक भजनों के बीच भक्तिमय आयोजन के दौरान भक्तों के लिए नंदीबाला मंदिर ही बृजधाम बन गया और श्रृद्धालु बृजवासी व गोपियां बनकर भगवान के साथ थिरक रहे थे। आकर्षण का केन्द्र रही मनमोहक सजीव झांकी बरबस की मन मोह रही थी। गायक कलाकार राजेश तिवारी द्वारा गाए गए गीत केशरिया रंग डारो कन्हैया ने..., होली खेल रहे नंदलाल वृंदावन की कुंज गलिन में एवं गायिका सरोज सरगम द्वारा भर पिचकारी मारी कन्हैया ने, आज बृज में होली रे रसिया एवं होली खेले रघुवीरा अवध में गीत ने मंदिर में मौजूद भक्तों को झूमने में मजबूर कर दिया। साथ ही कलाकार वृषभान विश्वकर्मा, महेंद्र, छन्नूलाल सोनी की साज बाज सहित कलाकारी देखकर लोग प्रसन्न हो उठे। रंगपंचमी के इस कार्यक्रम में भक्तों ने भगवान संग जमकर फूलों की होली खेली । श्रद्धालुओं ने नृत्यगान करते हुए होली महोत्सव की भक्ति, श्रृद्धा व कला से परिपूर्ण धर्मसंध्या का आनंद लिया एवं प्रसाद ग्रहण किया । कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए श्रृद्धालुओं को सेनेटाइज करते हुए मास्क भी वितरित किए गए एवं कोरोना रोकथाम के उपाय हेतु सूचनाएं भी चस्पा की गई ।

संगीत ने बांधा समा, बुंदेली कलाकारों का हुआ सम्मान
रंगपंचमी उत्सव के दौरान दूरदर्शन व आकाशवाणी के कलाकारों द्वारा पारंपरिक होली गीत व बुंदेली फागों के गायन की रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गईं, जिसको सुनकर लोग मंत्रमुग्ध हो गए । गायक कलाकार पंचम सिंह निराला द्वारा गाए गए गीत पिचकारी न मारो कन्हैया व नंदीबाला में आज मची होली.. एवं ममता सिंह द्वारा आज बृज में होली रे रसिया एवं होली खेले रघुवीरा अवध में गीत ने मंदिर में मौजूद भक्तों को झूमने में मजबूर कर दिया। प्रसिद्ध लोकगीत गायिका चिरइया प्रजापति व रामसिंह राय ने भर पिचकारी मारी कन्हैया ने व केशरिया रंग डारो कन्हैया ने खूब समां बाधा इसी तरह दशरथ हंसमुख, रेखा दुबे, संतोषी सिंह, सुनीता चौरसिया आदि ने भी शानदार प्रस्तुतियों से उपस्थित श्रृद्धालुओं का अपनी कला से मन मोहा । इस अवसर पर बुंदेली लोक संस्कृति को संजोकर रखने वाले लगभग डेढ़ दर्जन कलाकारों का सम्मान नंदीबाला मंदिर के पुजारी पं. हरगोविद तिवारी (पप्पू महाराज), सनातन धर्म सेवा समिति द्वारा किया गया ।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned