scriptRejuvenation of the pond on the initiative of NITI Aayog | नीति आयोग की पहल पर तालाब का कायाकल्प, अब 5 गांव के 80 किसानों को मिलेगा पानी | Patrika News

नीति आयोग की पहल पर तालाब का कायाकल्प, अब 5 गांव के 80 किसानों को मिलेगा पानी

तालाबों की गाद निकालकर गहरीकरण से जिले के 168 तालाबों की बदल गई सूरत
फीडर चेनल के बनने से पूर्व में सूखे रहने वाले तालाबों में वॉटर लेबल बढ़ा

छतरपुर

Updated: August 04, 2022 04:39:12 pm

छतरपुर. जिले में तालाबों को नया जीवन देने और वॉटर लेबल बढ़ाने के लिए नीति आयोग की मुहिम का असर नजर आने लगा है। नीति आयोग व कलेक्टर संदीप जीआर ने 168 तालाबों की गाद निकालने और गहरीकरण की मुहिम मई माह में शुरु की थी। तीखी गर्मी के दौरान प्रशासन की मेहनत व ईमानदार पहल में ग्रामीण भी शामिल हुए और आज दम तोड़ते जा रहे तालाबों को नया जीवन मिल गया है। आसपास का वॉटर लेबल बढऩे के साथ किसानों को सिंचाई के लिए पानी मिलने लगा है। तालाबों को नया जीवन देने के साथ फीडर चेनल बनाए गए हैं, ताकि तालाब को भरने वाले वाला पानी तालाब तक पहुंच सके।
बदल गई 20 एकड़ के तालाब की तस्वीर
बदल गई 20 एकड़ के तालाब की तस्वीर
बदल गई 20 एकड़ के तालाब की तस्वीर

गर्मियों में गौरिहार ब्लॉक के ग्राम पंचायत गहबरा के प्राचीन दीना तालाब को नीति आयोग के अंतर्गत जिले में चिन्हित किए गए 168 तालाबों की जमीन का सीमांकन कर डी-सिल्टिंग का कार्य शुरू किया गया। तालाब से गाद एवं मिट्टी बाहर निकालने से तालाबों का गहरीकरण हुआ। तालाबों के कैचमेंट एरिया में फीडर चेनल का निर्माण होने से मानसून सत्र में तालाबों में पानी भरने लगा। ग्राम पंचायत गहबरा तालाब से करीब 3 हजार 920 घन मीटर गाद एवं मिट्टी निकली गई। वर्तमान में यह तालाब लबालब भरा है। फीडर चेनल के बनने से पूर्व में सूखे रहने वाले तालाबों में एकत्रित होकर पूरा पानी तालाब में भरने से वॉटर लेवल बढ़ा है। इस तालाब में जल वृद्धि होने से करीब 4-5 गांवों के 80 किसानों को सिंचाई का लाभ मिलेगा। 20 एकड़ रकबे में सिंचाई में वृद्धि होगी। साथ ही स्थानीय लोगों को आजीविका के लिए अवसर भी मिल सकेंगे।
कलेक्टर ने बढ़ाया उत्साह

गांव के निवासी एवं शोध छात्र रामबाबू तिवारी ने खेत का पानी खेत में और गांव का पानी गांव में अभियान के तहत गहबरा के विलुप्त हो चुके दीना तालाब जमा गाद के उपजाऊपन के बारे में किसानों को बताया और इस गाद को खोदकर खेतों में डालने का सुझाव दिया। जिसे मानकर किसानों ने तालाब की जमा गाद को खोदकर खाद के रूप में प्रयोग करने के लिए अपने साधन ट्रैक्टर के माध्यम से अपने खेतों में ले गए हैं और देखते ही देखते दीना तालाब का स्वरूप पुन: वापस लौटने लगा। नीति आयोग ने संबल देकर इस काम को और आसान बना दिया। तालाब के कायाकल्प अभियान में तब और तेजी आ गई जब कलेक्टर संदीप जीआर ने गहबरा जाकर इस कार्य का विधिवत शुभारंभ करके किसानों का मनोबल बढ़ाया था। इसके बाद किसानों में उत्साह कुछ इस तरह बढ़ा कि सभी ने मिलकर तालाब पुराने स्वरूप में लौटाने की कवायद शुरु कर दी।
5 लाख क्यूबिक मीटर गाद निकाली

जिले के चंदेलकालीन व अन्य तालाबों को नया जीवन देने के लिए प्रशासन की टीम ने 5 लाख 77 हजार 663 क्यूबिक मीटर गाद निकाली। गाद निकालने के साथ तालाबों का गहरीकरण किया गया। इसके साथ ही तालाब के कैचमेंट एरिया में फीडल चेनल बनाए गए। ताकि बारिश के दिनों में पूरे इलाके का पानी तालाब तक आसानी से पहुंच सके। जिससे तालाब भर सके। बारिश में तालाब भरने से आसपास के किसानों को सिंचाई के लिए पानी, गांव वालों को निस्तार के लिए पानी मिलने के साथ ही जल स्तर भी बढ़ा है। मियावाकी एवं पर्माकल्चर तकनीक में जल प्रतिधारण बढ़ाने के लिए मेड़ों पर वृक्षारोपण किया जा रहा है।
इनका कहना है

तालाबों का सीमांकन, मुनरा स्थापित करने, तालाब भूमि की वास्तविक स्थिति रेवेन्यू रिकॉर्ड में अपडेशन से तालाबों में जलधारण में सुधार हुआ है। क्षेत्र का व्यापक दौरा और लगातार मॉनिटरिंग से रिजल्ट सकारात्मक आ रहे हैं।
संदीप जीआर, कलेक्टर

फोटो- सीएचपी 040822-71- दीना तालाब की बदल गई तस्वीर व तकदीर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नाम'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीTET घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, शिंदे गुट के विधायक अब्दुल सत्तार की बेटियों के नाम आए सामने, शिवसेना ने बोला हमला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.