राहत की खबर: लगातार खाली हो रहे कोविड सेंटर व आक्सीजन बेड

जिला मुख्यालय से लेकर सामुदायिक स्वास्थ केन्द्रों तक में ऑक्सीजन बेड खाली
23 दिन में 1200 एक्टिव केस घटे, मौत की रफ्तार भी हुई कम

By: Dharmendra Singh

Published: 23 May 2021, 10:03 PM IST

छतरपुर। अप्रेल में जिले में कहर ढा चुकी कोविड संक्रमण की दूसरी लहर से अब हम उबरने लगे हैं। अप्रेल में एक्टिव केस की संख्या 1600 पहुंच जाने से ऑक्सीजन वाले वेड की कमी हो गई थी। लेकिन अब संक्रमण के मामले घटने से बेड की उपलब्धता बढ़ गई है। खाली बेड संक्रमण में आ रही कमी की ओर संकेत कर रहे हैं। जिले में अब एक्टिव केस 234 पर आ गए हैं। वहीं रोजाना 400 से ज्यादा संक्रमित मिलने की तुलना में अब 40 के आसपास ही संक्रमित मिल रहे हैं।

सभी जगह खाली हो गए बिस्तर
जिले में संक्रमण की रफ्तार घटने से जिले भर के अस्पताल व कोविड केयर सेंटरों में ऑक्सीजन व आइसोलेशन वाले बेड खाली हो गए हैं। जिला मुख्यालय पर जिला अस्पताल में 166 में से 101 बेड रविवार को खाली थे। जिसमें 49 आइसोलेशन व 52 ऑक्सीजन सर्पोट वाले बेड हैं। मिशन अस्पताल में 50 में 39 बेड खाली है, जिसमें 24 बेड ऑक्सीजन सपोर्ट वाले हैं। इसी तरह कोविड केयर सेंटर महोबा रोड में 61 बेड खाली है, जिसमें 58 आइसोलेशन व 3 ऑक्सीजन सपोर्ट वाले हैं। लवुकनशगर में 56 में 43 बेड खाली है, जिसमें 13 ऑक्सीजन सपोर्ट वाले हैं। बिजावर में 30 में 26 बेड खाली हैं। नौगांव में 80 में 77 खाली हैं। बड़ामलहरा में 50 में 50 बेड खाली है। बक्स्वाहा में 30 में 27, गौरिहार में 100 में 98, ढड़ारी में 8 में से और खजुराहो कोविड सेंटर में 90 में 84 और खजुराहो अस्पताल में 20 में से 17 बेड खाली हो गए हैं।

मई में हुआ सुधार
30 अप्रैल को जिले में 1446 एक्टिव केस मौजूद थे, जिसमें से 1190 केस घट गए हैं। इस माह के 21 दिनों से लगातार कोरोना संक्रमित व्यक्ति कम पाए जाने से जिले में एक्टिव केस घटकर 256 रह गए हैं। जिसमें से 92 कोरोना संक्रमितों को जिला अस्पताल के विभिन्न कोविड वार्ड में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। जिले में लगातार संक्रमण घटने से जिला प्रशासन के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को भी राहत है।


मौत के आंकड़े भी हुए कम
8 अप्रेल से कोरोना संक्रमितों की मौत को सिलसिला लगातार जारी है। पर राहत की बात यह है कि पिछले एक सप्ताह से दिनों में संक्रमण से मरने वाले लोगों की संख्या में कमी आई है। पिछले दिनों जहां प्रतिदिन 5 से 7 संक्रमितों की प्रतिदिन मौत हो रही थी, वहां पर आज की स्थिति में 2 संक्रमितों की मौत हो रही है। 19 मई से 21 मई तक तीन दिन में जिले के अस्पतालों सिर्फ 6 कोरोना संक्रमितों की इलाज के दौरान मौत हुई है। जिले में कोरोना संक्रमण कम होने से साथ ही संक्रमितों की मौत की संख्या में भी लगातार कमी आ रही है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned