पॉजिटिव आए डॉक्टर के संपर्क में आने वाले डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ व परिजन की रिपोर्ट आई निगेटिव

डॉक्टर के 2 परिजन और स्टाफ के 10 लोग किए गए क्वांरंटीन, जिसमें तीन डॉक्टर, मेडिकल व लिपकीय स्टाफ शामिल
बिजावर तहसील का पनागर कंटेनमेंट एरिया से मुक्त, राजनगर में एक महिला मिली पॉजिटिव

By: Dharmendra Singh

Published: 26 Jun 2020, 06:00 AM IST

छतरपुर। नौगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में सेवाएं दे रहे कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर के संपर्क में आए तीन डॉक्टर व स्टाफ के 7 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं डॉक्टर की पत्नी और बेटे की रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। हालांकि डॉक्टर की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद नौगांव स्थित डॉक्टर के घर के आसपास के इलाके को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर सील कर दिया गया है। डॉक्टर के संपर्क में आए परिजन और अस्पताल में पदस्थ स्टाफ को होम क्वारंटीन किया गया है। सीएमएचओ डॉ. विजय पथोरिया ने बताया कि डॉक्टर के संपर्क में आया स्टाफ व परिजन की रिपोर्ट निगेटिव आई है। स्टाफ की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद अब प्रशासन उन लोगों की तलाश में जुट गया है, जिन्होंने डॉक्टर से अपना इलाज कराया था। पॉजिटिव डॉक्टर की ट्रवल और कॉन्टेक्ट हिस्ट्री निकाली जा रही है।

राजनगर में पॉजिटिव मिली महिला
गुरुवार की देर शाम आई सैंपल रिपोर्ट में राजनगर इलाके के घुंचु गांव में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। 19 जून को पति व बेटे के साथ गांव लौटी 24 वर्षीय महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। वहीं, महिला का पति व बेटा की रिपोर्ट निगेटिव आई है। महिला को आइसोलेशन में रखा गया है। जिले में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 56 है, जिसमें से 48 अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। वहीं, 8 लोग आइसोलेशन में हैं। हालांकि जिला प्रशासन पॉजिटिव की संख्या हेल्थ बुलेटिन में 55 बता रहा है, क्योंकि प्रशासन दिल्ली में पॉजिटिव आए व्यक्ति को आइसोलेशन में तो रखे हैं, लेकिन उसकी गिनती जिले के मरीजों में नहीं की जा रही है।

बनी रही हड़कंप की स्थिति
बुधवार की शाम डॉक्टर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में हड़कंप की स्थिति बन गई। सूचना मिलते ही कोरोना कोविड कंट्रोल टीम ने एसडीएम विनय द्विवेदी, तहसीलदार बीपी सिंह, सीईओ हरीश केशरवानी, थाना प्रभारी संजय वेदिया संबंधित डॉक्टर के नौगांव स्थित घर पहुंचे। डॉक्टर को स्पेशल एंबुलेंस से जिला आइसोलेशन वार्ड भेजा। जबकि उनकी पत्नी व बेटे को होम क्वारंटीन कर दिया। कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद प्रशासन अलर्ट हो गया है। शाम को ही कलेक्टर शीलेंद्र सिंह नौगांव पहुंच गए। उन्होंने तहसील कार्यालय पहुंचकर एसडीएम सहित प्रशासनिक अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली और कोरोना संक्रमण से बचाव के आवश्यक उपाय करने को आवश्यक निर्देश दिए।

देर रात में मोहल्ले को किया सील
प्रशासन ने डॉक्टर को आइसोलेशन में भेजने के बाद भारतीय स्टेट बैंक के पास रहने वाले संक्रमित डॉक्टर के पूरे मोहल्ले को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया है। रात में ही डॉक्टर के पूरे मोह्ल्ले में बैरीकेटिंग कर आवागमन बंद किया गया। स्टेट बैंक के कुछ हिस्से को कंटेनमेंट से मुक्त रखा गया है। प्रशासन द्वारा रात में ही पूरे कंटेनमेंट एरिया को सैनेटाइज किया गया। कंटेनमेंट एरिया के एंट्री प्वॉइंट पर पुलिस बल तैनात किया गया है। वहीं, डॉक्टर के परिजन व स्टाफ के लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा गया।

संक्रमित डॉक्टर के संपर्क में आने वालों की तलाश शुरू
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लुगासी में पदस्थ डॉक्टर की ट्रेवल हिस्ट्री एवं कॉट्रेक्ट हिस्ट्री निकालने में प्रशासन जुट गया है। पॉजिटिव आए डॉक्टर 20 दून को ही राठ उत्तर प्रदेश लौटे थे। वहां से लौटने के बाद नौगांव सामुदायिक स्वास्थ्य में अन्य डॉक्टरों एवं कर्मचारियों के साथ बैठे रहे। इसके अलावा डॉक्टर द्वारा मरीजों का इलाज भी किया गया। हालांकि इलाज के समय पीपीई किट पहने रहने के कारण संक्रमण फैलने की आशंका नहीं है।

दो दुकाने की सील
नौगांव एसडीएम विनय द्विेदी ने बाइक पर सवार होकर मार्केट का निरीक्षण किया और जिन व्यापारियो ने शाम 7 बजे के बाद भी दुकानें खोल रखी थी, उन दुकानदारों के चलान काटे और दुकाने भी सील की । जिनमे 5 दुकान संचालकों के चालान काटे गए तो वही 2 दुकानों को सील किया गया। इससे पहले 2 बार एसडीएम ने व्यापारियो को अनलॉक-1 का सही से पालन करने का आग्रह किया था, इसके वाबजूद व्यापारी पालन नही कर रहे थे, इसलिए प्रशासन ने कार्रवाई की। इस दौरान तहसीलदार बीपी सिंह, सीएमओ बसंत चतुर्वेदी, एसडीओपी एसएन सिंह बघेल मौजूद थे।


ग्राम पनागर कंटेनमेंट क्षेत्र से मुक्त
कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह द्वारा लोक स्वास्थ्य की दृष्टि से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु 31 मई 2020 को बिजावर तहसील के ग्राम पनागऱ के सम्पूर्ण राजस्व क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया था। उक्त कंटेनमेंट एरिया में 04 जून 2020 को अंतिम बार कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाया गया था। इस तरह 24 जून 2020 को 21 दिन पूर्ण होने के पश्चात कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाया गया एवं स्वास्थ्य सर्वे में कोई भी व्यक्ति संदिग्ध की श्रेणी में नहीं पाया गया है। इसलिए कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह द्वारा ग्राम पंचायत पनागर के सम्पूर्ण राजस्व क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र से मुक्त कर दिया गया है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned