कांग्रेस विधायक के प्रतिनिध की सोते समय धारदार हथियार से एक दर्जन वार कर हत्या

चेहरे, सिर, सीने , हाथ में किसी भारी धारदार हथियार से किया हमला
एफएसएल, डॉग स्क्वाड की टीम ने जुटाए साक्ष्य, आरोपियों का नहीं चला पता

By: Dharmendra Singh

Published: 17 Feb 2021, 09:57 PM IST

छतरपुर। बुधवार की सुबह 4 से 5 बजे के बीच महाराजपुर से कांग्रेस विधायक नीरज दीक्षित के प्रतिनिधि और गढ़ीमलहरा क्षेत्र के कांग्रेस नेता 55 वर्षीय घनश्याम पटेल की जघन्य हत्या कर दी गई। अज्ञात हमलावरों ने खेत पर सोते समय धारदार हथियार से सिर, चेहरे,सीने और हाथ में एक दर्जन बार हमला किया है। आशंका जताई जा रही है कि हत्यारे ने कुल्हाड़ी जैसे किसी हथियार से हमला किया है। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर टीकमगढ़ फॉरेंसिक, डॉग स्क्वाड और पुलिस के आला अधिकारी पहुंचे। प्रारंभिक जांच में हत्या के आरोपियों का कोई सुराग नहीं लग सका है। परिजनों ने भी किसी पर संदेह नहीं जताता है।

खेत पर सोने गए सुबह पत्नी ने देखी लाश
जानकारी के मुताबिक गढ़ीमलहरा थाना क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 2 में रहने वाले घनश्याम पटेल का गांव के बाहर खुद का खेत है। यहां उन्होंने पिपरमेंट प्लांट भी लगा रखा है। रात के समय वे इसी खेत पर रखवाली के लिए सोने जाते थे। हमेशा की तरह मंगलवार की रात भी करीब 10 बजे वे खाना खाकर खेत पर सोने चले गए थे। घनश्याम पटेल सुबह जल्दी उठकर नगर में निकलने वाली प्रभातफेरी में कीर्तनों के लिए भी शामिल होते थे लेकिन बुधवार को वे जब प्रभातफेरी में नहीं पहुंचे तो लोगों ने इसकी चर्चा की। घर के लोग भी चिंतित हो गए। इसके बाद उनकी पत्नी सुबह करीब 7 बजे उन्हें खोजने खेत पहुंची तो यहां एक कमरे में उनकी लाश पड़ी हुई थी। लाश देखकर पत्नी चीखने लगी। उन्होंने आसपास के लोगों और परिवार को इसकी सूचना दी जिसके बाद गांव के लोग इक_े हुए।

खबर मिलते ही मौके पर पहुंचे विधायक
घनश्याम पटेल गढ़ीमलहरा नगर परिषद में पार्षद भी रह चुके हैं। वे कांग्रेस के नेता थे इसीलिए विधायक नीरज दीक्षित ने उन्हें नगर परिषद का विधायक प्रतिनिधि नियुक्त किया था। सुबह जैसे ही घनश्याम पटेल की हत्या का समाचार विधायक को मिला वे घटना स्थल पर पहुंचे। विधायक नीरज दीक्षित ने भी हत्या को लेकर रोष व्यक्त किया उन्होंने पूरे मामले की कड़ाई से जांच एवं जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। एसडीओपी कमल जैन, गढ़ीमलहरा थाना प्रभारी रवि उपाध्याय और फॉरेंसिक जांच दल की प्रारंभिक जांच में अभी कोई सफलता नहीं मिला है। पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा बाद में घटना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे। परिवार के लोग इस घटना के बाद शोक में डूबे हैं। फिलहाल हत्या की वजह सामने नहीं आयी है परिवार वालों ने भी किसी से रंजिश जैसी कोई बात नहीं कही है।

इनका कहना है
हत्या का जघन्य मामला सामने आया है। पुलिस सभी पहलुओं की जांच कर रही है। एक टीम बनाकर जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास करेंगे।
सचिन शर्मा, एसपी, छतरपुर

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned