पौधरोपण के साथ रक्षा का लिया संकल्प

पौधरोपण के साथ रक्षा का लिया संकल्प

Rafi Ahamad Siddiqui | Publish: Sep, 10 2018 10:14:38 AM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

पौधों की देखभाल का लिया संकल्प

छतरपुर। पत्रिका हरित प्रदेश अभियान को लेकर महाराजा छत्रसाल की नगरी छतरपुर में पौधरोपण का सिलसिला जारी है। रविवार को दो अलग-अलग स्थानों पर पौधारोपण हुआ। पौधरोपण को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखा गया। इस दौरान करीब १५१ पौधे रोपित किए गए। पौधरोपण के बाद उसकी देखभाल का संकल्प भी लिया गया। इसको लेकर पौधरोपण करने वालों में खासा उत्साह दिखाई दे रहा है। शहर के लोग पौधरोपण को लेकर खासे सजग है।
नमामिदेवी नर्मदे प्रकल्प, राष्ट्रीय चेतना एवं विकास मंच तथा नगर पालिका के संयुक्त तत्वाधान में समाज सेवियों ने महाराजा कॉलेज के सामने सड़क के किनारे पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित किया। इस के पूर्व नगर पालिका द्वारा लगाई गई रैलिंग में समाज सेवियों द्वारा पूर्व में किए गए पौधरोपण में गाजर घांस एवं खरपत वार से पौधे ढक गये थे उनकी निराई गुडाई की गई। साथ ही गाजर घांस एवं खरपतवार साफ की गई। नमामिदेवी नर्मदे प्रकल्प राष्ट्रीय चेतना मंच के संयोजक एवं सवच्छता ब्रांड एंबेस्डर डीडी तिवारी एवं मुख्यनगर पालिका अधिकारी हरिहर गंर्धव ने अशोक एवं जामुन का पौधा लगाया। मीडिया प्रभारी शंकर सोनी, एड. पंकज पाठक, आंनद शर्मा, राकेश शर्मा, केएन सोमन, बालमुकुंद पौराणिक, इं. राकेश त्रिपाठी, दशरथ सिंह सभी ने पौधे लगाए और इसके बाद सड़क किनारे की गाजर घांस को उखाडऩे का अभियान चलाया गया। डीडी तिवारी ने बताया कि आगामी रविवार को छत्रसाल चौराहे से उत्कृष्ट विद्यालय तक के सामने स्थित नगर पालिका के द्वारा लगाई गई रैलिंग के अंदर शेष भाग में पौधरोपण किया जाएगा। उधर संगम सेवालय ट्री एम्बुलेंस टीम के द्वारा रविवार को चौबे हॉस्पिटल तिराहा से लेकर बीएड कॉलेज के सामने तक के डिवाइडर की सफाई की गई और फिर वहां पर ३1 पेड़ लगाए गए। इस अवसर पर संगम सेवालय के संचालक विपिन अवस्थी, अंजू अवस्थी के साथ केएन सोनम, डॉ कुसुम कश्यप, संजय अवस्थी, श्रीराम गंगेले, अजय चतुर्वेदी, नीलम पांडे, डीडी तिवारी, बालमुकुंद पौराणिक, राजेश मिश्रा, रागी अवस्थी, एंजिल अवस्थी, मो. रहीस आदि मौजूद रहे। पौधरोपण को लेकर लोगों में खासा उत्साह दिखाई दे रहा है। इसको लेकर शहरवासी खासे सजग हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned