सिंगारपुर रेत खदान में ड्राइवर के अंधे कत्ल का खुलासा, एक आरोपी गिरफ्तार, 3 फरार

रंगदारी नहीं देने पर 4 लोगों ने की थी हत्या

साइबर सेल की मदद से गिरफ्त में आ सका आरोपी

By: Dharmendra Singh

Published: 07 Mar 2020, 06:00 AM IST

छतरपुर। गोयरा थाना अंतर्गत ग्राम सिंगारपुर स्थित निजी भूमि रेत खदान के पास 10 जनवरी को हुई ट्रक ड्राइवर की हत्या का खुलासा हो गया है। गोयरा पुलिस ने हत्या के चार आरोपियों में से एक को उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद से गिरफ्तार किया है। जबकि तीन आरोपी अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं। थाना प्रभारी गोयरा हेमंत नायक ने बताया कि साइबर सेल की मदद और घटना के दिन इलाके में लोगों की लोकेशन के आधार पर जांच की गई तो मामले की तह तक पहुंचे। 4 आरोपियों में से एक अनिल उर्फ बबली सोनकर पुत्र रत्तू सोनकर निवासी खजूरा टोला कालिंजर जिला बांदा को इलाहाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी के ऊपर 10 हजार का इनाम था। आरोपी ने ट्रक ड्राइवर से रंगदारी मांगी थी, लेकिन उसने पैसे देने से इनकार किया तो उसकी हत्या कर दी थी।
कट्टा मिस हुआ तो सीने में घंसा दिया बल्लम
सिंगारपुर निवासी मलखे यादव, बौरा यादव और खजूरा टोला निवासी अनिल सोनकर व बबला यादव ने आबिद अली से रेत खदान पर रंगदारी की मांग की। आबिद ने रुपए देने से मना किया तो अनिल ने आबिद पर कट्टा से फायर कर दिया, लेकिन फायर मिस हुआ तो उसने दोबारा कट्टा लोड करके गोली चलाई, लेकिन कट्टा फिर मिस हो गया। इतने में आबिद भागने लगा तो दो ने आबिद को पकड़ लिया और बौरा यादव ने उसके सीने में बल्लम घंसा दी। जिससे आबिद की मौत हो गई।
ये है पूरा मामला
प्रतापगढ़ निवासी ट्रक चालक रिजवान अपने 35 वर्षीय चाचा आबिद अली पुत्र जहीर को ट्रक में लेकर 9 जनवरी 2020 का सिंगारपुर स्थित एमआरए ग्लोबल निजी भूमि रेत खदान से रेत भरने आया था। उसी रात करीब साढ़े 11 बजे आबिद के मोबाइल पर फोन आया और वह ट्रक से उतरकर बात करता हुआ निकल गया। चूंकि उस समय घना कोहरा था इसलिए यह समझ में नहीं आया कि वह कितनी दूर निकल गया। कुछ देर बाद सायरन बजाती हुई एक नीले रंग की कार आई जिससे ट्रकों के ड्राइवर ट्रक छोड़कर आसपास चले गए। चालकों को डर था कि कहीं पुलिस न आ गई हो। काफी देर तक आबिद के न आने पर रिजवान ने समझा कि हूटर के डर से वह भी कहीं छिप गया होगा। सुबह 10 जनवरी को ग्रामीणों ने सड़क किनारे आबिद के शव के पड़े होने के बारे में बताया तो सभी ट्रक चालक मौके पर पहुंच गए। युवक की पहचान आबिद अली के रूप में हुई। रिजवान ने बताया कि यह उनका चाचा है और उसके साथ ट्रक में आया था।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned