हाइवे पर लूट करने वाले लुटेरे गिरफ्त से बाहर, अब दूसरी गैंग ने दौरिया में ड्रायवर को लूटा

हाइवे पर लूट करने वाले लुटेरे गिरफ्त से बाहर, अब दूसरी गैंग ने दौरिया में ड्रायवर को लूटा

Neeraj Soni | Publish: Sep, 11 2018 11:14:34 AM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

नेशनल हाइवे पर बढ़ी वारदातें, चौथी लूट में दूसरी गैंग का हाथ होने की आशंका, नौगांव के आसपास हो चुकी है तीन लूट

छतरपुर। नेशनल हाइवे पर लूट और गोली मारकर युवक को घायल करने वाले तीन लुटेरे पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। इसी बीच रविवार की रात 9 बजे रीवा-ग्वालियर नेशनल हाइवे पर दौरिया गांव के बसस्टैंड पर ड्राइवर से लूट हो गई। दौरिया में मरीज के परिजनों को छोड़कर वापस जा रहे कार ड्राइवर को चार युवकों ने मारपीट कर लूट लिया। हालांकि इस वारदात में हाइवे के तीन लुटरे शामिल होने की संभावना नहीं है,लेकिन
ये घटना भी हाइवे पर ही हुई है। लूटने वाले कैसे आए,कहां गए, इसका खुलासा भी नहीं हो सका है। नेशनल हाइवे पर लगातार चार दिन से लूट की वारदात हो रही है। चार में से तीन लूट नौगांव के आसपास हुई हैं। ऐसे में नौगांव पुलिस की सुस्ती पर सवाल उठना लाजमी है। जब नौगांव के आसपास नेशनल हाइवे पर रोज लूट की वारदात हो रही है,तो सवाल उठ रहा है कि,नौगांव पुलिस आखिर कर क्या रही है।
ऐसे हुई घटना
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नौगांव से मरीज और उनके परिजनों को निजी कार से लाने ले जाने का काम करने वाला मनोज केवट रविवार की सुबह 10 बजे मरीज को लेकर झांसी गया था। रात में मरीज के परिजनों को लेकर वापस आया,रात में करीब 9 बजे मरीज के परिजनों को दौरिया गांव में छोड़ा और उनसे कार का किराया लेकर गांव से निकला। लेकिन जैसे ही गांव से निकलकर हाइवे स्थित दौरिया स्टैेंड पर पहुंचा तो चार युवक इसके पास आए। ये युवक मनोज केवट से गाली-गलौज करने लगे,विरोध करने पर चारों युवकों ने मनोज की पीटना शुरु कर दिया। फिर मनोज की जेब में रखे 7 हजार रुपए छीन कर भागने लगे। आरोपियों को भागते देख मनोज ने मोबाइल निकालकर पुलिस को फोन करना चाहा तो आरोपी वापिस आए और मोबाइल छोड़कर छीनकर अंधेर में भाग गए। मनोज ने गांव के किसी व्यक्ति की मदद से डायल 100 को वारदात की सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पूरे इलाके में छानबीन की,लेकिन तबतक आरोपी फरार हो चुके थे।
48 घंटे बाद भी हाइवे लुटेरे गिरफ्त से बाहर
शनिवार की रात 11 बजे नौगांव मेें नवोदय विद्यालय के पास धमाची निवासी युवक रमेश यादव को तीन लुटरों ने बाइक लूटने के मकसद से गोली मार दी। गंभीर रमेश झांसी मेडिकल कॉलेज में जिंदगी और मौत से जूझा,डॉक्टरों की मेहनत के बाद उसकी जान बच पाई। वारदात को बीते 48 घंटे हो चुके हैं। लेकिन बाइकर्स लुटेरे पकड़ से बाहर है। इसके अलावा गुलगंज में दो युवकों से सोने की चेन की लूट की वारदात के आरोपी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। शुक्रवार को मउसहानियां में जयहिंद सिंह से लूट के आरोपी भी अबतक पकड़े नहीं जा सके हैं। हाइवे पर बाइक सवार तीन लुटेरों के पकड़े जाने से पहले दूसरी गैंग ने हाइवे पर लूट की वारदात कर दी। हाइवे पर लूट की बढ़ रही घटनाओं से लोग दहशत में हैं,परिवार को लेकर बिना डर कभी भी हाइवे से आने-जाने वाले लोग और रोज हाइवे से आना-जाना करने वाले लोग आरोपियों को पकड़े न जाने से चिंतित हैं।
इधर,पुलिस की तीन टीमें लगी तलाश में
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयराज कुबेर के निर्देशन में सीएसपी छतरपुर,एसडीओपी नौगांव और बड़ामलहरा के नेतृत्व में बनाई गई पुलिस की तीन टीमें आरोपियों को पकडऩे के लिए जगह-जगह छापेमारी कर रही है। इसके अलावा साइबर सेल और सीसीटीवी की सहायता से हाइवे लुटेरों का सुराग लगाया जा रहा है। लूट के घटनास्थल पर पुलिस दोबारा गई और आसपास के लोगों से बात भी की,ताकि आरोपियों के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाई जा सके। लोगों से भी लुटेरों के बारे में पुलिस को फोन आ रहे हैं। सारी जानकारियों का पुलिस के अफसर विश्लेषण कर रहे हैं। ताकि ठोस नतीजा निकल सके। एएसपी जयराज कुबेर का कहना है कि पुलिस की टीमें दिन-रात लगीं हुई हैं,जल्द ही लुटेरों को पकड़ लिया जाएगा।
वर्सन
कुछ लोग घूमने के लिए ओरक्षा गए गए थे, लौटते समय खाने-पीने के बाद विवाद हुआ था,ये आपसी विवाद का मामला समझ में आ रहा है। फिर भी पीडि़त के आवेदन के आधार पर जांच की जा रही है।
- लालदेव सिंह,एसडीओपी,नौगांव

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned