नियमों को नजरअंदाज कर खोद दी सड़कें, नहीं किया रोड रीस्टोरेशन

नियमों को नजरअंदाज कर खोद दी सड़कें, नहीं किया रोड रीस्टोरेशन

Rafi Ahamad Siddiqui | Publish: Sep, 08 2018 10:18:05 AM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

सीएमओ बोले अभी नहीं हुआ पूरा कार्य

उन्नत पचौरी
छतरपुर। शहर में विभिन्न टेलीकॉम कम्पनियों द्वारा शहर के हाईवे के साथ साथ गली मोहल्लों में नियमों को नजरअंदाज कर बेतरतीब सड़कों खोद दिया है और जगह जगह गड्ढे कर दिए गए हैं। वहीं पानी की पाइप लाइन बिछाने के नाम पर भी पूरे शहर की सड़कें बेतरतीबी से खोद दी गई हैं। खुदाई की परमिशन देते वक्त शासन ने कई शर्तें रखी थी। लेकिन निर्माण एजेंसी द्वारा एक भी शर्त पालन नहीं कर रही है। ठेका कंपनी ने शहर में कई जगह सड़कें खोदकर अधूरी छोड़ दी हैं। लोगों के लिए यह सड़कें समस्या बन सबब रही हैं। बारिष के दौर में लोगों को अपने घरों तक पहुंचने के लिए परेसानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कई रहवासी गड्डों के आए हर दिन हादसे के शिकार हो रहे हैं। लेकिन इसकी जानकारी होने के बाद भी जिम्मेदारों द्वारा कोई भी कदम नहीं उठाए जा रहे हैं।

Rules ignored and excavated roads not road restoration

 

शहरवासियों कर चुके है शिकायतें
शहर के विभिन्न स्थानों पर कहीं टेलीकॉम कम्पनियों द्वारा नई लाइन बिछाने, पुरानी लाइन की मारम्म करने या सुधारने के मान पर और पेयजल पाइप लाइन बिछाने के नाम पर शहर के हाईवे सहित गली मोहल्लों सड़कें आडी तिरछी खोद दी गई हैं। शासन ने शर्त रखी है कि सड़कें जहां खोदी जाएं। उन्हें निर्धारित अवधि में पूर्वकी तरह मरम्मत करके दिया जाए। प्रशासन के नियम हे कि नगर कि रोड रेस्टोरेशन उसी तरह किया जाना चाहिए, जैसा पहले निर्माण हुआ था। लेकिन ठेका कम्पनियों द्वारा इसका ध्यान नहीं दिया गया। शहर में कई जगह सड़कें खोदकर छोडने के कारण शहरवासियों द्वारा लगातार विरोध कर रहे है। इन सबके बावजूद प्रशासन किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जा रही।

कांक्रीट सड़कें बन गई कीचड़
सड़कों का सबसे अधिक नुकसान पाइप लाइन प्रोजेक्ट के कार्य से हुआ है। शुरुआत में कई वार्डों में स्थानीय लोगों ने विरोध जताया था। हर जगह मरम्मत का आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक आश्वासन को पूरा नहीं किया गया। लाइन बिछाने के बाद मिट्टी पाट दी गई। अब बरसात के दिनों में वाहनों का निकलना मुश्किल हो रहा है। सड़कों के ऊपर कीचड़ ही कीचड़ नजर आ रहा है।

सुरक्षा से जुड़े बोर्ड गायब
सड़कें खोदने पर सुरक्षा का बोर्ड लगाने के साथ सुरक्षा घेरा बनाया जाना चाहिए। निर्माण स्थल पर ठेकेदार व सुपरवीजन एजेंसी के इंजीनियर्स के नाम और नंबर के साथ ही योजना का नाम और लागत अनिवार्य रूप से होना चाहिए। लेकिन शहर में इसका कहीं भी पालन होता नहीं किया जा रहा है।


ये रही शतें
- सड़क खुदाई के बाद 30 दिन में रोड रीस्टोरेशन को पूरा करना।
- सड़क खोदने से पहले दुघर्टना से बचाव के लिए रूट डायवर्ट, साइन बोर्ड व बेरिकेड्स लगें।
- रीस्टोरेशन इंडियन रोड कांग्रेस के मानकों के मुताबिक किया जाए।
- 200 मीटर की खुदाई का रीस्टोरेशन के बाद ही आगे की खुदाई होनी चाहिए।
- सीवरेज, पेयजल, टेलीफोन लाइन बिछाने के लिए पहले संबंधित विभागों के बीच तालमेल होना जरूरी है।
- खुदाई के दौरान पाइप लाइन को क्षति न हो, सड़क की खुदाई 0.50 मीटर चौड़ाई से ज्यादा न हो।
- सड़क एजेंसी के इंजीनियर से निरीक्षण करवाकर अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना होगा।
- केबिल बिछाने के बाद समतलीकरण लेयर्स में किया जाना।


नगर पालिका सीएमओ हरिहर गंदर्भ से सीधी बात
प्र. - शहर में विभिन्न स्थानों में पानी की पाइप लाइन बिछाई कई थी करीब एक वर्ष होने को लेकिन खोदी गई सड़कों को सहीं नहीं कराया गया।
उ. - यह प्रोजेक्टर २०१९ तक है प्रोजेक्टर में कार्य चालू है सभी स्थानों में पाइप लाइन बिछाने के बाद सड़के सही कराई जाएंगी।
प्र. - खुदी पड़ी सड़कों से लोगों को परेसानी हो रही है। आवागमन में दिक्कतें होती हैं
उ. - कोई भी कार्य किया जाता है तो लोगों को परेसानी होती ही है। जल्द ही लोगों की समस्या का समाधान किया जाएगा।
प्र. - टेलीकॉम कम्पनियों द्वारा शहर के विभिन्न सड़कों में खुदाई की जा रही है और नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। अभी तक कितनों को नोटिस दिया गया।
उ. - अभी तक एसी जानकारी नहीं है मैं इंजीनियर को मौके पर भेजता हूं अगर नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है तो नोटिस भेजा जाएगा।

Rules ignored and excavated roads not road restoration

इनका कहना है
पाइप लाइन पिछाने के लिए नगर पालिका द्वारा अनुमति ली गई थी। लेकिन अभी तक रोड रीस्टोरेशन नहीं कराया गया है। हमारे यहां व्यस्तता अधिक होने से ध्यान नहीं दिया गया है। जानकारी कर के नोटिस भेजा जाएगा और रोड रीस्टोरेशन का कार्य पूरा कराया जाएगा। वहीं टेलीकॉम कम्पनी ने मेरी जानकारी में अनुमति नहीं ली है। अगर उनके द्वारा बिना अनुमति के कार्य कराया जा रहा है तो उन पर कार्रवाई की जाएगी।
जेएस चौहान एसडीओ एनएच छतरपुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned