भगवान श्रीकृष्ण की शोभायात्रा में उमड़ा आस्था का सैलाव

भगवान श्रीकृष्ण की शोभायात्रा में उमड़ा आस्था का सैलाव

Rafi Ahamad Siddiqui | Publish: Sep, 08 2018 02:51:18 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

सतत प्रयास करें, थक कर हारें नहीं- ललिता यादव

छतरपुर। यादव महासभा द्वारा जन्माष्टमी के अवसर पर निकाली गई भगवान श्रीकृष्ण की शोभायात्रा में शुक्रवार को शहर में आस्था का सैलाव उमड़ पड़ा। इस दौरान ग्वालवालों ने जगह-जगह दही से भरी मटकियां तोड़ीं। श्रद्धालुओं ने शोभायात्रा का आत्मीय स्वागत करते हुए फूल बरसाए वहीं आसमान से बारिश रूपी अमृत भी बरसता रहा। शोभायात्रा के पूर्व मेला ग्राउंड में हुए मंचीय कार्यक्रम में राज्यमंत्री ललिता यादव ने भगवान श्रीकृष्ण का संदेश याद दिलाते हुए कहा कि हम सतत प्रयास करें, थक कर हारें नहीं। शोभायात्रा में जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए यादव समाज के अलावा विभिन्न वर्गों के लोग शामिल रहे।
मेला ग्राउंड में आयोजित समारोह में राज्यमंत्री ललिता यादव ने कहा कि कृष्ण जन्मोत्सव क्षेत्र और प्रदेश की सुख समृद्धि तथा लोगों की खुशहाली के लिए मनाया जाता है। उन्हें लोगों ने तीन बार आशीर्वाद दिया और वे 15 साल से सेवक के रूप में पूरी निष्ठा से सेवा कर रही हैं। वे भगवान कृष्ण से यही कामना करती हैं कि सेवा में कभी कमी न रहे। उन्होंने कहा कि पहले लोग जानते ही नहीं थे कि विकास क्या है, जब वे नगर पालिका अध्यक्ष बनीं तब उन्होंने शहर में विकास के काम कराए। विधायक बनने के बाद भी अपने कर्तव्य का निर्वाह किया। विश्वविद्यालय की मांग पूरी की, रिंग रोड मंजूर कराया। मेडिकल कॉलेज के लिए जन-जन की मांंग थी लेकिन सतना के लिए घोषणा हो जाने पर उम्मीदें कम हो गई थीं, फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी, क्योंकि भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि सतत प्रयास करते रहो। उन्होंने लगातार प्रयास किया जिससे मेडिकल कॉलेज मिल गया। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि कर्म करो फल की इच्छा मत करो, इसीलिए हम सब कर्म करें और हारें नहीं। राज्यमंत्री ललिता यादव ने कहा कि हमें अहंकार नहीं करना चाहिए, जब हम दूसरों को नीचा दिखाने लगते हैं तो पतन शुरू हो जाता है। हम अन्याय और अत्याचार के खिलाफ लड़ाई लड़ें, भगवान कृष्ण की तरह अच्छे पुत्र और अच्छे मित्र बनें। इसके पहले यादव महासभा के प्रदेश अध्यक्ष जगदीश यादव ने कहा कि समाज और संगठन के लिए काम करने का जज्बा उन्होंने ललिता यादव के अलावा और किसी में नहीं देखा। उन्होंने छतरपुर में मेडिकल कॉलेज लाकर ऐतिहासिक काम किया है। ललिता यादव ने कभी किसी का कुछ नहीं बिगाड़ा, मंत्री होने के बावजूद उनमें अहंकार नहीं है। वे सेवा करके भगवान श्रीकृष्ण का संदेश दे रही हैं। उन्होंने ललिता यादव की तुलना झांसी की रानी से करते हुए कहा कि हम मानव जाति की सेवा के लिए हैं और सेवा के लिए संघर्ष भी करना पड़े तो पीछे नहीं हटेंगे।
इस अवसर पर वृंदावन के कलाकारों ने भजन की आकर्षक प्रस्तुतियां दीं तथा बुंदेली कलाकारों ने दिवारी नृत्य प्रस्तुत कर मन मोह लिया। मंचीय कार्यक्रम के बाद मेला ग्राउंड से भगवान श्रीकृष्ण की शोभायात्रा प्रारंभ हुई जो छत्रसाल चौक, महल तिराहा, चौक बाजार, बस स्टैंड होते हुए कल्याण मण्डपम पहुंची। शोभायात्रा में सबसे आगे ध्वज लिए समाज के युवक चल रहे थे। उनके पीछे सिर पर कलश धारण किए महिलाओं की टोली शामिल थी। शोभायात्रा में भगवान श्रीगणेश की भव्य प्रतिमा आकर्षण का केन्द्र रही। इसके साथ ही राधा-कृष्ण की जीवंत झांकी ने लोगों को आकर्षित किया। शोभायात्रा में भगवान श्रीकृष्ण से संबंधित विभिन्न झांकियां शामिल थीं। बारिश के बावजूद शोभायात्रा में शामिल लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। रास्तेभर जगह-जगह लोगों ने शोभायात्रा का आत्मीय स्वागत किया। शोभायात्रा में यादव महासभा के अवधेश यादव, राजेन्द्र सिंह यादव, ऊषा यादव, अंकुर यादव सहित यादव समाज के जिलेभर से आए पुरुष और महिलाएं शामिल थे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned