रेत माफिया ने नदी में बना लिया था पहुंच मार्ग, हटाकर नदी में ही बहाया

राजस्व विभाग के कर्मचारी व पुलिस बल पहुंचा और अवैध पुल को हटा दिया।

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 12 Nov 2017, 12:29 PM IST

छतरपुर. लवकुशनगर क्षेत्र में हिनौता थाना क्षेत्र अंतर्गत केन नदी पर अवैध पहुंच मार्ग बनाकर रेत का परिवहन किया जा रहा था। जानकारी मिलते ही एसडीएम व सीएसपी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और अवैध पुल को जेसीबी से हटवा दिया। इससे रेत माफिया में हड़कंप मचा है।
रातोंरात निकल रहे थे ट्रक
बताया जाता है कि यह पुल जैसा पहुंच मार्ग करीब 15 दिन पहले बनाया गया था। इसके बाद रेत माफिया रात में यहां से रेत से भरे ट्रक निकलवाते थे। इस स्थान से करीब एक किमी दूर यूपी के बांदा जिले की सीमा लग जाती है। साथ ही थोड़ी ही दूर से पन्ना जिले के अजयगढ़ की सीमा है। शुक्रवार को इसकी जानकारी प्रशासन को मिली। जिस पर एसडीएम आशीष वशिष्ठ के नेतृत्व में एसडीओपी, थाना प्रभारी चंदला राजकुमार, थाना प्रभारी सरबई छत्रपाल सिंह, थाना प्रभारी हिनौता केपी सिंह चंदेला सहित राजस्व विभाग के कर्मचारी व पुलिस बल पहुंचा और अवैध पुल को हटा दिया।

सीएसपी ने पकड़ी रेत से भरे चार ट्रैक्टर
शहर में भी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों के माध्यम से रेत का अवैध परिवहन किया जा रहा है। शनिवार को सीएसपी राकेश शंखवार ने शहर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र अंतर्गत रेत से भरे चार ओवर लोड ट्रैक्टर-ट्रालियों को पकड़ा है। इस दौरान ट्रैक्टर चालकोंं के पास आवश्यक दस्तावेज नहीं मिले। तब रेत से भरी इन ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को शहर के सिविल लाइन थाने में खड़ा कराया गया है। अब आगे की कार्रवाई के लिए मामला खनिज विभाग को सौंपा जाएगा।
इधर, रात भर की छापामारी, पकड़े रेत से भरे आठ ट्रक
एसडीएम लवकुशनगर आशीष वशिष्ठ व एसडीओपी लक्ष्मन अनुरागी ने शुक्रवार की रात विभिन्न खदानों पर छापामार कार्रवाई की। सरवई क्षेत्र अंतर्गत हुई कार्रवाई से रेत माफियाओं में खलबली मची रही। इस दौरान खदानों से रेत लेकर आ रहे आठ ट्रकों को पकड़ लिया। ट्रक चालकों से पिटपास मांगे तो उनके पास पिटपास नहीं मिले। साथ ही इन ट्रकों में ओवरलोड रेत भरी थी। जिस पर ट्रकों को जब्त कर थाने में खड़ा कराया गया है।

Show More
Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned