आज से आंशिक रूप से खुलेंगे कक्षा 9 से 12वीं तक के स्कूल

स्क्रीनिंग व सेनेटाइजेशन के बाद मिलेगा विद्यालय में प्रवेश
कक्षा 1 से 8वीं तक हमारा घर-हमारा विद्यालय के तहत होगा मूल्यांकन

By: Dharmendra Singh

Published: 21 Sep 2020, 06:00 AM IST

छतरपुर। अनलॉक के क्रम में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के शासकीय एवं निजी स्कूल 21 सितबर से आंशिक रूप से खुल सकेंगे। लेकिन नियमित रूप से क्लास नहीं लगेंगी। शिक्षक नियमित रूप से स्कूलों में उपलब्ध रहेंगे। विद्यार्थी किसी विषय पर शिक्षक से मार्गदर्शन लेने के लिए पालकों की अनुमति से पूर्ण रूप से ऐहतियात बरतते हुए स्कूल में आ सकते हैं। विद्यार्थी और शिक्षक के बीच परस्पर संवाद छोटे-छोटे समूह में पर्याप्त समय के अंतराल में किया जाएगा। वहीं, कक्षा 1 से 8वीं तक के बच्चों को हमारा घर-हमारा विद्यालय अभियान के तहत हो रही पढ़ाई का अब हर सप्ताह मूल्यांकन किया जाएगा। इसके लिए व्हाट्सऐप के माध्यम से प्रश्नोत्तरी हल कराई जाएगी।

स्कूल में गेस्ट के प्रवेश पर रहेगी रोक
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) जारी किया गया है, जो कि शासकीय एवं निजी, दोनों विद्यालयों पर लागू होगा। शिक्षक एवं विद्यार्थी 6 फ ीट की शारीरिक दूरी, फेस-कवर या मास्क का उपयोग, बार-बार साबुन से हाथों को धोना अथवा सेनेटाइज करने जैसे उपायों का अनिवार्य रुप से पालन करेंगे। स्कूल में केवल कोरोना नेगेटिव व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति होगी। आगंतुकों का प्रवेश सख्ती से प्रतिबंधित रहेगा। विद्यालय की सभी ऐसी सतहों एवं उपकरणों का कक्षा प्रारंभ होने एवं समाप्ति के बाद एक प्रतिशत हाइपोक्लोराइड के उपयोग से डिसइन्फेक्शन (कीटाणु शोधन) करना अनिवार्य होगा। पानी एवं हाथ धोने के स्थानों एवं शौचालयों की गहरी सफ ाई की जाएगी। शौचालयों में साबुन एवं अन्य सामान्य क्षेत्रों में सेनेटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता कराई जाएगी। सार्वजनिक स्थलों पर थूकना वर्जित होगा। स्कूल के प्रवेश-स्थान पर हाथ की स्वच्छता के लिए सेनेटाइजर, डिस्पेंसर और थर्मल स्केनिंग की व्यवस्था की जाएगी। कंटेनमेंट जोन में विद्यालय खोलने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही कंटेनमेंट जोन में निवासरत विद्यार्थियों, शिक्षकों और कर्मचारियों को स्कूल में आने की अनुमति नहीं होगी।

प्राथमिक व माध्यमिक के छात्रों का होगा मूल्यांकन
कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्र-छात्राओं की पढ़ाई का व्हाट्सएप आधारित मूल्यांकन शुरु किया गया है। इसके तहत विद्यार्थी पढ़ी हुई पाठ्य सामग्री से सम्बंधित क्विज या प्रश्नोत्तरी व्हाट्सएप पर ही प्राप्त कर हल कर सकेंगे। बच्चों के सीखने का वास्तविक स्तर सामने लाने के उद्देश्य से यह मूल्यांकन प्रारंभ किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत कक्षा 1 से 8 के हिंदी एवं गणित विषयों के लिए दस-दस प्रश्नों की क्विज की लिंक हर शनिवार को व्हाट्सएप पर भेजी जाएगी, बच्चों द्वारा पूरे सप्ताह में अपनी सुविधानुसार इसे हल किया जा सकता है। यह आकलन साप्ताहिक आधार पर होगा। हर शनिवार नई क्विज का लिंक साझा किया जायेगा। राज्य स्तर से जिलेवार व्हाट्सएप नंबर साझा किए गए हैं।


इस प्रकार होगा व्हाट्सएप आधारित मूल्यांकन का संचालन
विद्यार्थी अपने जिले के लिए जारी किए गए व्हाट्सएप नंबर पर मेसेज भेजेंगे। बच्चे पहले जिले का चयन करेंगे, फिर विकासखंड का चयन करेंगे। फिर बच्चे को अपनी कक्षा डालनी होगी। फिर वे अपना नाम डालेंगे। इस प्रकार पंजीकरण पूर्ण होगा। इस पूरी प्रक्रिया में स्वचालित तरीक़े से रिप्लाई प्राप्त होगा। भविष्य में समग्र आईडी ऐड करके भी यह कार्य सरलता से किया जा सकेगा। इसके बाद क्विज प्रारंभ होगा। सभी विद्यार्थियों का पंजीकरण होने के बाद वे हिंदी और गणित का अभ्यास कर सकते हैं। शिक्षकों को मूल्यांकन की रिपोर्ट भी मिलेगी, जिसके आधार पर वे बच्चों की खामियों और खूबियों और विषय-विशेष के ज्ञान के बारे में जान पाएंगे।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned