जिला अस्पताल में दूसरा ऑक्सीजन प्लांट भी हुआ शुरु, अब जिले के पांच अस्पतालोंं का होगा उन्नयन


बड़ामलहरा सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र, मतागुंवा और महाराजपुर प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र के बढ़ेंगे बिस्तर
बम्होरी व ठकुर्रा उप स्वास्थ केन्द्र बनाए जाएंगे प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र, तीन नए उपस्वास्थ केन्द्र भी बनेंगे

By: Dharmendra Singh

Published: 04 Oct 2021, 06:25 PM IST

छतरपुर। कोरोना संकटकाल से सबक लेकर जिले की स्वास्थ व्यवस्थाओं को दिन प्रति दिन और मजबूत किया जा रहा है। जिला अस्पताल में अब दूसरा ऑक्सीजन प्लांट भी शुरु हो गया है, जिससे जिला अस्पताल की क्षमता 1850 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन की क्षमता तैयार हो गई है। जो सीधे वार्ड में मरीज तक सप्लाई की जा रही है। वहीं जिले में पांच अस्पतालों का उन्नयन, दो उप स्वास्थ केन्द्रों को प्राथमिक बनाया जाएगा, वहीं तीन की बिस्तर क्षमता बढ़ाई जाएगी। वहीं तीन नए उप स्वास्थ केन्द्र भी शुरु किए जाएंगे।

स्वास्थ विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं, अब पालन की कार्यवाही शुरु की जा रही है। स्वास्थ संचालनालय से जारी आदेश के मुताबिक जिले के एक सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र का उन्नयन कर सिविल अस्पताल, दो प्राथमिक स्वास्थ केन्द्रों को सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र बनाया गया है। वहीं दो उप स्वास्थ केन्द्रों को प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र बनाया गया है। जबकि तीन नए उप स्वास्थ केन्द्र भी बनाए गए हैं। इस तरह से आठ स्थानों पर स्वास्थ सुविधाओं को मजबूत किया जा रहा है।

अब होगी इतने बिस्तरों की व्यवस्था
बड़ामलहरा सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र का उन्नयन कर उसे 30 के बजाए 50 बिस्तर की सुविधा का बनाया गया है। वहीं, महाराजपुर व मातगुंवा प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र को अब 6-6 बिस्तर की जगह 30-30 बिस्तर का अस्पताल बनाया गया है। बम्होरी और ठकुर्रा उप स्वास्थ केन्द्र को प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र बनाया गया है। अब इन दोंनों केन्द्रों पर 6-6 बिस्तर की व्यवस्था होगी। इसके साथ ही जुझारपुरा, बराखेरा और लहरपुरा पंचायत में नए उप स्वास्थ केन्द्र खोले जाएंगे। अस्पतालों के उन्नयन से न केवल मरीजों को भर्ती करने की सुविधा बढ़ेगी बल्कि डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ व दवाइयों की सुविधा में भी इजाफा होगा।

17 उपस्वास्थ केन्द्रों के बन रहे भवन
जिले में 17 उपस्वास्थ केन्द्रों के लिए दो मंजिला भवन की स्वीकृति पहले ही हो चुकी है। भवन निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया भी पूरी हो गई है। अब सभी केन्द्रों का जल्द ही निर्माण शुरु होगा। जिले के मौराहा, बंधीकला, गुढ़ा, पिपट, बम्होरी, पहरा, बेनीगंज, पीरा, इम्लहा, गोमाकला, बरहा, निमानी, ढिमरवा, सिंगरावन कला, खुर्दा, परेई और किशनपुर गांव में दो मंजिला उपस्वास्थ केन्द्र बनेंगे। जहां ऊपर की मंजिल में ही स्टाफ के रहने की व्यवस्था की जाएगी।

इनका कहना है
जिले की स्वास्थ सेवाओं को और मजबूत करने की दिशा में प्रयास जारी है। मौजूदा व्यवस्था को दुरुस्त करने के साथ ही नई सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जा रही है। शहर से लेकर गांव तक स्वास्थ व्यवस्था और बेहतर होगी।
डॉ.सतीष चौबे, सीएमएचओ

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned