बीएमओ और भण्डार लिपिक को कारण बताओ नोटिस जारी

बिना सूचना के नदारद हैं डॉक्टर साहब, निलंबन की होगी कार्रवाई

By: Dharmendra Singh

Published: 09 Apr 2020, 09:00 AM IST


छतरपुर। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह द्वारा बुधवार को बिजावर क्षेत्र में बीएमओ सटई के कार्यालय के निरीक्षण के दौरान 135 के विरूद्ध मात्र 98 प्रकार की दवाइयां पाए जाने और विगत 14 फरवरी 2020 से ऑनलाइन इंडेंट नहीं भेजने पर बीएमओ सहित भण्डार लिपिक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। कलेक्टर ने स्वास्थ्य परीक्षण अभियान में डोर-टू-डोर सर्वेक्षण के दौरान 9 अपै्रल तक सर्दी, खांसी एवं बुखार के मरीजों का अनवरत फॉलोअप करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को कोरोना वायरस रोकथाम के संबंध में शासन द्वारा दिए गए निर्देशों के तहत सतत मॉनिटरिंग सुनिश्चित करने के लिए भी निर्देशित किया।
बीएमओ ने कार्यवाही के लिए सीएमएचओ को लिखा पत्र
कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सरकारी अमला जी जान से लगा हुआ है लेकिन इसी बीच प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र छठीबम्होरी में पदस्थ चिकित्सा अधिकारी राहुल यादव 23 मार्च से बिना सूचना के अनुपस्थित हैं। डॉक्टर के नदारत रहने से क्षेत्र की स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित हो रही है बीएमओ डॉक्टर एसपी शाक्यवार ने चिकित्सा अधिकारी द्वारा बरती गई लापरवाही के बारे में सीएमएचओ को पत्र लिखकर अवगत कराया गया है साथ कार्यवाही के लिए लिखा है। बीएमओ डॉक्टर एसपी शाक्यवार ने बताया की कोविड 19 महामारी के रोकथाम के लिए हर डॉक्टर को अपने पदस्थ स्थान पर रहने के निर्देश हैं इस महामारी के बीच कोई भी अवकाश स्वीकृत नही हंै। शासन के निर्देशानुसार कोरोना संक्रमण के बीच कोई भी डॉक्टर सम्बंधित अस्पताल में डियूटी के दौरान अनुपस्थित रहने पर सेवा से पृथक या फिर 6 माह की सजा का प्रावधान है। इधर सीएमएचओ विजय पथौरिया का कहना है की बीएमओ द्वारा भेजा गया पत्र उन्हें प्राप्त हो गया है। डॉक्टर राहुल यादव के खिलाफ निलंबन की कार्यवाही की जा रही है कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम में डॉक्टरों की कोई लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी।

Dharmendra Singh
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned