वेतन नहीं मिलने पर तालाबंदी कर अनशन पर बैठे

नगर परिषद राजनगर के अधिकारी कर्मचारी हड़ताल पर

छतरपुर/राजनगर. नगर परिषद राजनगर के सभी अधिकारी व कर्मचारी तालाबंदी करके हड़ताल पर चले गए हैं। जिससे नगर परिषद कार्यालय के सभी काम ढप हो गया और आमजनमानस परेशान हो गया। हड़ताल पर गए कर्मचारियों ने बताया कि उन्हें अप्रैल माह से अभी तक का वेतन नहीं मिला है। जिससे उनके सामने परिवार के भरण पोषण की समस्या निर्मित हो गई। कर्मचारियों ने नारेबाजी करते हुए सामूहिक अनिश्चित हड़ताल शुरू कर दी। हड़ताल के समय नगर परिषद सीएमओ केबी सिंह बघेल को वेतन नहीं मिलने से अपनी अनिश्चित हड़ताल की सूचना दी गई। गौरतलब है कि नगरपरिषद में लगभग 70 से 75 वैतनिक एवं दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी कार्यरत हैं, जिनके परिवार विगत तीन माह से वेतन नहीं मिलने से काफी परेशान हैं। कर्मचारियों द्वारा अपनी वेतन की मांग के लिए कई बार सीएमओ सहित संयुक्त संचालक सागर को अपनी शिकायत भेजी गई थी। शिकायत पर संयुक्त संचालक सागर द्वारा सीएमओ बघेल से वेतन नहीं देने के संबंध में जानकारी मांगी गई थी जिसके जबाब में सीएमओ केबी सिंह बघेल द्वारा जबाब दिया गया कि मेरी नियुक्ति के पूर्व से ही राजनगर नगर परिषद में वेतन देने के लिए राशि ही नहीं बची है क्योंकि नगर परिषद में 169 लाख की आय हुई थी जबकि लगभग 25 लाख रुपए ज्यादा सहित 194 लाख का व्यय नगर परिषद द्वारा पहले ही कर दिया गया था ऐसे में वेतन कहां से दे सकता हूं। वहीं सीएमओ केबीएस बघेल द्वारा बताया गया कि में हडताली कर्मचारियों की हालत और मजबूरी समझ सकता हूं। क्योंकि मुझे खुद चार माह से वेतन नहीं मिला है। हालांकि पूर्व में पूर्व सीएमओ मुरलीधर शुक्ला व प्रभारी लेखपाल नंदकिशोर पटेल द्वारा लगभग 37 लाख रुपए अन्य मदों में व्यय कर दिए जाने से एसी स्थिति निर्मित हो गई है।

नितिन सदाफल Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned