समय पर वेतन नहीं, फिर भी तन्मयता ड्यूटी कर रहे सफाई कर्मचारी

जिले के 600 से अधिक कर्मचारियों को अब तक नहीं मिला वेतन, स्वास्थ्य विभाग और नगर पालिका के अधीनस्थ है कर्मचारी

By: Samved Jain

Published: 18 Apr 2020, 10:01 AM IST

छतरपुर. कोरोना जैसी गंभीर महामारी के संक्रमण के खतरे के बीच शहर और अस्पताल को स्वच्छ रख रहे स्वच्छता कर्मचारियों का वेतन अब तक उनके खातों में नहीं पहुंच सका हैं, बावजूद इससे पूरी टीम तन्मयता से काम कर रही हैं। जिसे देखते हुए अधिकारियों और संगठनों द्वारा भी स्वच्छता कर्मवीरों को लगातार सम्मान भी किया जा रहा हैं।


जानकारी के अनुसार जिले में स्वास्थ्य विभाग और नगरपालिका में ६०० से अधिक स्वास्थ्य कर्मचारी कलेक्टर रेट पर लगे हुए हैं। यह कर्मचारी संक्रमण के खतरे के बीच अल्प सुविधाओं के बीच भी लगातार कार्य करते आ रहे हैं। रोजाना वार्डों से लेकर अस्पताल तक सफाई की जा रही हैं। साथ ही हर पल कोरोना नियंत्रण टीम के साथ कर्मवीर की तरह ही काम कर रहे हैं। ऐसे समय में जब सभी घरों में हैं, वह अपने परिवारों की फिक्र किए बगैर कार्य रहे हैं। जिले के स्वच्छता कर्मियों ने वेतन को लेकर एक बार भी इस दौरान अधिकारियों से चर्चा तक नहीं की हैं।


वेतन नहीं मिलने से अटके काम
सफाई कर्मियों का मार्च माह का वेतन अब तक उनके खातों में नहीं पहुंच सका हैं। जिससे उनकी दैनिक जरूरतों से लेकर घर के अन्य कार्य भी अटक गए हैं। कर्मचारियों को भरोसा हैं कि जल्द ही उनके खातों में वेतन आ जाएगा। इसी उम्मीद के साथ काम करते जा रहे हैं। एक कर्मचारी ने बताया कि ऐसे समय में वह काम पर ज्यादा फोकस कर रहे हैं। वेतन के लिए अधिकारियों को ध्यान देना चाहिए। कर्मचारी नेता आदित्य बाल्मीकि ने कहा कर्मचारियों का वेतन जल्द ही मिलना चाहिए। हालांकि, देरी होने पर भी कार्य प्रभावित नहीं होगा। कर्मचारी देश हित में कोरोना संक्रमण से लडऩे के लिए सदैव कार्य करते रहेंगे।

Show More
Samved Jain Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned