scriptTaxi driver's daughter selected in army | टैक्सी चालक की बेटी सेना में चयनित | Patrika News

टैक्सी चालक की बेटी सेना में चयनित

इलाके की पहली लड़की है सेना में जाने वाली
गांव पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत

छतरपुर

Updated: December 27, 2021 09:03:57 pm

छतरपुर। जिले के छोटे से गांव गढ़ा के एक टैक्सी चालक की बेटी का इंडियन आर्मी में सैनिक के रुप में चयन हुआ है। इलाके की पहली लड़की ने सेना में भर्ती होने के बाद अपनी ट्रेनिंग भी पूरी कर ली है। पहली बार गांव आई बेटी को गांव वालों ने सर-आंखों पर बैठा लिया। गांव में उसका भव्य स्वागत किया गया।
इलाके की पहली लड़की है सेना में जाने वाली
इलाके की पहली लड़की है सेना में जाने वाली
गढ़ा गांव के टैक्सी चालक दशरथ आदिवासी की बेटी सविता आदिवासी का सेना में चयनित होकर ट्रेनिंग के लिए राजस्थान के अलवर जिले के मौजपुर गई थी। 8 महीने की ट्रेनिंग पूरी कर बीते रोज सविता गांव के पास पहुंची, तो पांच किलोमीटर दूर गंज टावर के पास गांव के लोग उसे लेने पहुंचे और भव्य स्वागत किया। जब बेटी अपने पिता के गले लगी तो पिता की आंखों से खुशी के आंसू बहने लगे।
सविता गांव के प्रमुख मंदिरों से दर्शन करती हुए घर पहुंची, जहां उसकी मां के साथ गांव की अन्य महिलाओं ने तिलक लगाकर उसका स्वागत किया। वहीं उसके स्वागत में गांव के युवा डीजे की धुन पर जमकर थिरके। इस मौके ओर पूरे गांव मे बाइक रैली भी निकाली गई। सविता ने गांव वालों के स्नेह और स्वागत के प्रति आभार व्यक्त किया।

राष्ट्रीय सम्मेलन में जुटे देश भर के किन्नर, देखने के लिए जाम हो गईं सड़कें

छतरपुर। छतरपुर में 20 दिसम्बर से 29 दिसम्बर तक नारायणपुरा रोड के एक विवाह घर में किन्नर समाज का राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इसी सम्मेलन के अंतर्गत किन्नर समाज के द्वारा शहर की प्रमुख सड़कों से एक कलश यात्रा निकाली गई। इस कलश यात्रा में देश भर से सैकड़ों किन्नर एकत्रित हुए। गाजे-बाजे, बग्घियों के साथ कलश लेकर निकले इन किन्नरों को फिल्मी गानों पर थिरकते हुए देखने के लिए शहर की सडकें जाम हो गईं। किन्नरों की इस कलश यात्रा ने शहर के जवाहर रोड, चौक बाजार, बस स्टेण्ड का भ्रमण किया।
किन्नर समाज के जिलाध्यक्ष नीतू नायक ने बताया कि किन्नर समाज के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के लिए हर वर्ष राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष यह सम्मेलन छतरपुर में 20 दिसम्बर से शुरू हुआ था जो कि 29 दिसम्बर तक चलेगा। इस सम्मेलन में राजस्थान, झारखंड, दिल्ली, उ.प्र. के अनेक शहरों से किन्नर समाज के प्रतिनिधि सम्मिलित हुए हैं। कलश यात्रा निकालने का मकसद लोगों को अपनी मौजूदगी बताना साथ ही छतरपुर जिले की सुख समृद्धि और कल्याण के लिए कामना करना है। किन्नरों ने एक मंदिर में पीतल का घंटा भेंट किया तो वहीं एक मजार में चादर चढ़ाते हुए सामाजिक सद्भाव एवं सुख शांति व प्रेम की कामना की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

गुजरातः सोमनाथ मंदिर के पास सर्टिक हाउस के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी, तीर्थ स्थलों से बढ़ती है देश की एकताक्या सच में बुझा दी गई अमर जवान ज्योति? केंद्र सरकार ने दिया जवाबCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारT20 World Cup: टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल, जानें कब और किस टीम से होगा मुकाबलाकेरल में एक दिन में सामने आए 46 हजार नए मामले, अब लगेगा कम्प्लीट लॉकडाउनप्रधानमंत्री 5 फरवरी को हैदराबाद में रामानुजाचार्य की 216 फुट ऊंची प्रतिमा का करेंगे अनावरण, 120 किलो सोने से बनी है ये प्रतिमातीन तलाक मामला-फोन पर बोला और तोड़ दिया रिश्ता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.