33 साल की सेवा के बाद शिक्षक सेवानिवृत्त, स्टाफ ने दी भावभीनी विदाई

जिस स्कूल में पढ़े, उसी में पढ़ाया, रिटायर होने पर कहा- शिक्षक हमेशा फैलाता है ज्ञान का उजियारा

By: Dharmendra Singh

Updated: 30 Sep 2020, 10:40 PM IST

छतरपुर। शिक्षा विभाग में कार्यरत 11 शिक्षक 30 सिंतबर को शासकीय सेवा पूरी करने पर सेवा निवृत हो गए। पूरे जीवन शिक्षक के रुप में बच्चों में ज्ञान का प्रकाश फैलाने वाले शिक्षकों की सेवा निवृति पर उन्हें स्टाफ, अभिभावकों ने भावभीनी विदाई दी। शसकीय हायरसेकंडरी स्कूल हटवारा संकुल के भी तीन शिक्षक बुधवार को रिटायर हुए। पड़रिया प्राथमिक शाला में 33 साल सेवा देने के बाद 30 सिंतबर को वरिष्ठ शिक्षक हरदेव सिंह मम्मा जू भी सेवानिवृत हो गए। सहज स्वभाव के वरिष्ठ शिक्षक की सेवा निवृती पर स्टाफ व अन्य लोगों ने भावभीनी विदाई देते हुए कहा कि शिक्षक ही जीवन में ज्ञान का प्रकाश फैलाता है, जिससे बच्चे अपने जीवन और करियर को सही दिशा में अग्रसर करते हैं। मम्मा जू ने बताया कि वे इसी स्कूल में पढ़े और इसी स्कूल में शिक्षक के रुप में काम किया, आज वे शासकीय सेवा से निवृत जरूर हो रहे हैं, लेकिन शिक्षक हमेशा ज्ञान का उजियारा फैलाता है। वे जीवन के अगले पड़ाव में भी गुरु-शिष्य परंपरा के लिए काम करते रहेंगे।

गीत के जरिए बताया शिक्षक का महत्व
वरिष्ठ शिक्षक की सेवा निवृति पर स्कूल की छात्रा प्रतीक्षा ने गाने के माध्यम से बताया कि शिक्षक का रिटायरमेंट विदाई का अवसर है, लेकिन इस अवसर पर हमें जीवन में राह दिखाने वाले शिक्षक के योगदान को जरूर याद करना चाहिए। शिक्षक विपिन अग्निहोत्री और आनंद अरजरिया ने भी गीत के माध्यम से विदाई की बेला को पारिभाषित करते हुए सेवा निवृत शिक्षक हरदेव सिंह के शिक्षकीय कार्यकाल, स्वभाव और उनके योगदान को याद किया। वरिष्ठ अधिकारियों, साथी शिक्षकों व सहयोगियों का अपने प्रति सम्मान देखकर अपने वक्तव्य के दौरान मम्मा जू भावुक हो गए और बोले कि ड्यूटी से मुक्त हो रहा हूं, आप सभी के रिश्तो से नहीं। रिश्ते जीवन भर यूं ही चलते रहेंगे।

वरिष्ठ अधिकारियों ने भी की सराहना
संकुल प्राचार्य हरीशंकर दीक्षित ने विदाई समारोह में वरिष्ठ शिक्षक के साथ जुड़े अपने 25 साल पुराने अनुभवों को यादकर उनके सेवानिवृत होने पर स्वस्थ दीधार्यु जीवन की कमाना की। इस अवसर पर बीआरसीसी लखन लाल सिसोंदिया ने भी भी शिक्षक के जीवन पर प्रकाश डाला और पड़रिया जेएसके प्रभारी हाइस्कूल प्राचार्य पुष्पा चौरसिया ने सेवानिवृत्ति को जीवन का अगला पड़ाव बताते हुए उन्हे शुभकामनाएं दीं। प्राथमिक शाला के प्रधान अध्यापक पीएन अरजरिया ने भी उनके साथ गुजारे 4 साल के कार्यकाल को याद कर उन्हें रिटायरमेंट के बाद नव जीवन की शुभकामनाएं दीं। विदाई समारोह में विपिन अग्निहोत्री, आनंद अरजरिया, गोपाल शिवहरे, शोभा मिश्रा, उषा वर्मा, आभा खरे, स्मिता अरजरिया, विनीता खरे, दीपाली जैन, शेखा वर्मा, नेहा परिहार समेत अन्य शिक्षक व पड़रिया के गणमान्य नागरिक भी मौजूद रहे।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned