scriptबसपा नेता की हत्या का फरार मास्टरमाइंड 90 हजार का फरार आरोपी रानू राजा गिरफ्तार | Patrika News
छतरपुर

बसपा नेता की हत्या का फरार मास्टरमाइंड 90 हजार का फरार आरोपी रानू राजा गिरफ्तार

4 मार्च को शहर में बसपा नेता महेंद्र गुप्ता के सिर में गोली मारकर हत्या का मास्टर माइंड राजकुमार सिंह उर्फ रानू राजा गिरफ्तार हो गया है। पांच साल से फरार रानू पर 90 हजार का इनाम घोषित है। आरोपी के ऊपर जिले के विभिन्न थानों में हत्या, हत्या के प्रयास, अवैध हथियार रखना सहित 9 संगीन अपराध दर्ज हैं।

छतरपुरMay 25, 2024 / 10:31 am

Dharmendra Singh

murder expose

आरोपी रानू राजा को न्यायालय ले जाती पुलिस

छतरपुर. 4 मार्च को शहर में बसपा नेता महेंद्र गुप्ता के सिर में गोली मारकर हत्या का मास्टर माइंड राजकुमार सिंह उर्फ रानू राजा गिरफ्तार हो गया है। पांच साल से फरार रानू पर 90 हजार का इनाम घोषित है। आरोपी के ऊपर जिले के विभिन्न थानों में हत्या, हत्या के प्रयास, अवैध हथियार रखना सहित 9 संगीन अपराध दर्ज हैं।

हत्याकांड में शामिल थे 10 लोग


पुलिस अधीक्षक अगम जैन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि थाना ईशानगर क्षेत्र के ग्राम सीगोन के रानू राजा की कई वर्षों से ग्राम ईशानगर के पूर्व सरपंच महेन्द्र गुप्ता से पारिवारिक रंजिश चल रही थी, जिसका बदला लेने के लिए आरोपी अपने परिवार के सदस्यों व शूटरों के साथ मिलकर 4 मार्च को छतरपुर शहर में गजराज पैलेस के सामने रोड पर गोली मारकर हत्या कर फरार हो गया था। वारदात में शामिल 10 लोग गिरफ्तार कर जेल भेजे जा चुके हैं, लेकिन मुख्य सरगना फरार इनामी आरोपी रानू राजा पुलिस की गिरफ्त से दूर था। गुरुवार की रात सिविल लाइन पुलिस को मुखबिर सूचना मिली कि रानू राजा को छतरपुर टीकमगढ़ बॉर्डर के पास देखा गया है। जिस पर टीम द्वारा रात्रि में घेराबंदी कर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस पूछताछ में खुले ये राज


आरोपी ने प्रारम्भिक पूछताछ में बताया कि वर्ष 2019 में ग्राम सीगोन में भोपाल सिंह की गोली मारकर हत्या कर फरार हो गया था तथा मुख्य साक्षी ग्राम सीगोन के महेश लुहार के ऊपर न्यायालय में साक्ष्य बदलने हेतु निरंतर दबाब बनाया गया एवं साक्ष्य न बदलने की स्थिति में हत्या करने की धमकी दी गई। जब महेश लुहार ने प्रकरण में साक्ष्य बदलने से इंकार किया गया तो फरार आरोपी रानू राजा द्वारा अपने साथियों साथ मिलकर षडयंत्र रचकर उसे प्रेम जाल में फांसकर अपहरण कर बंधक बनाया गया व भेद खुल जाने के भय से एक राय होकर महेश लुहार की चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी गई तथा पहचान मिटाने के आशय से उसके शव को चंबल नदी में फेंका गया। आरोपियों ने इस हत्या के बाद अर्जुन सिंह निवासी बमीठा की हत्या सागर रोड थाना सिविल लाइन अतंर्गत करना स्वीकार किया गया।

पुरानी रंजिश बनी हत्या का कारण


बसपा नेता महेन्द्र गुप्ता और ग्राम सीगोन निवासी प्रतिपाल सिंह ठाकुर के बीच 25 साल से रंजिश चली आ रही है। इसी रंजिश के चलते दोनों पक्षों की ओर से हत्या के प्रयास और हत्या जैसी कई घटनाएं घट चुकी हैं। वर्तमान में प्रतिपाल सिंह का बेटा रानू राजा हत्या के एक मामले में फरार चल रहा है। रानू राजा ने ही अपने साथियों के साथ महेन्द्र गुप्ता की हत्या की साजिश रची है।

बुलेट प्रूफ जैकेट पहनता था महेन्द्र गुप्ता


रानू राजा और उसके अन्य साथियों ने जनवरी 2024 से ही महेन्द्र गुप्ता को मौत के घाट उतारने के लिए जाल बिछाना शुरू कर दिया था। महेन्द्र गुप्ता की हर गतिविधि पर नजर रखी जाती थी। वारदात के दिन भी 7 लोग अलग-अलग स्थानों पर पॉजीशन लेकर तैनात थे। पहले पन्ना रोड पर एक शादी समारोह में पहुंचे महेन्द्र गुप्ता को मौत के घाट उतारने की साजिश रची गई, जब वहां हत्यारे कामयाब नहीं हुए तो सागर रोड पर गजराज पैलेस के सामने इस वारदात को अंजाम दिया गया। वारदात को अंजाम देते समय रानू राजा, शिवेन्द्र राजा, ट्विन टावर और आकाश सक्सेना समेत तीन अन्य मौजूद थे। चूंकि महेन्द्र गुप्ता बुलेटप्रूफ जैकेट पहनता था इसलिए आरोपियों ने उसके समीप जाकर सिर में तीन गोलियां मारी, ताकि किसी भी तरह उसकी जान न बच सके।

Hindi News/ Chhatarpur / बसपा नेता की हत्या का फरार मास्टरमाइंड 90 हजार का फरार आरोपी रानू राजा गिरफ्तार

ट्रेंडिंग वीडियो