बस स्टैंड पर चला अभियान, रिंग रोड के लिए शहरवासी व आसपास के लोगों ने किए हस्ताक्षर

बजरंग सेना शहर में रिंग रोड के लिए 6 दिन से चला रही हस्ताक्षर अभियान
शहरवासी कर रहे समर्थन, बुधवार को शहर के आसपास के गावों के लोग भी हुए शामिल

पत्रिका अभियान
छतरपुर। शहरवासियों की सुरक्षा और सुविधा के लिए चलाए जा रहे रिंग-रोड बनाने के अभियान में शहरवासियों के साथ ही अब रिंग रोड के दायरे में आने वाले गांवों के लोग भी शामिल हो रहे हैं। बजरंग सेना द्वारा शहर के बस स्टैंड पर बुधवार को छठवें दिन का अभियान चलाया गया। जिसमें बस स्टैंड इलाके के शहरवासियों के साथ ही रिंग-रोड के दायरे में आने वाले हमा, सौंरा, नारायणपुरा गांव के लोग भी शामिल हुए। गांव के लोगों का कहना है कि रिंग रोड न होने से सबसे ज्यादा खतरा उन्हें ही रहता है। नेशनल हाइवे पर शहर के बाहर भारी वाहन बेलगाम रफ्तार में चलते हैं। जिससे उनकी हल्की टोकर लगने से भी लोगों को अपनी जान गंवाना पड़ रही है।
शहरवासियों ने कहा- बस स्टैंड के पास ज्यादा परेशानी
बस स्टैंड पर बजरंग सेना द्वारा चलाए गए हस्ताक्षर अभियान के दौरान लोगों ने खुद ही समर्थन देते हुए रिंग-रोज जल्द बनाने की मांग की। बस स्टैंड के पास ही रीवा-ग्वालियर और सागर-कानपुर नेशनल हाइवे एक साथ मिलते हैं। इस वजह से दोनों नेशनल हाइवे के वाहनों का बस स्टैंड के पास से होकर ही गुजरना होता है। जिससे इस इलाके में जाम और दुर्घटना की समस्या ज्यादा रहती है। बस स्टैंड के पास की कॉलोनी के रहवासी राम तिवारी ने बताया कि बस स्टैंड इलाके में हर समय जाम की समस्या रहती है। इस इलाके से गुजरना सबसे कठिन काम है। वहीं, नारायण विश्वकर्मा और चंदन साहू ने बताया कि बस स्टैंड इलाके में ही सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं होती है। लोगों ने दादा व नातिन की ट्रक हादसे में मौत का जिक्र करते हुए कहा, कि आखिर रिंग रोड बनने में इतनी देरी क्यो?
आसपास के ग्रामीण ज्यादा परेशान
शहर की चारों दिशाओं में रिंग रोड के दायरे में आने वाले ग्रामीण भारी वाहनों की चहलकदमी से सबसे ज्यादा परेशान हैं। हस्ताक्षर अभियान का समर्थन देने वाले ओमप्रकाश ने कहा कि गांव से शहर लगा हुआ है, हर काम के लिए शहर आना होता है, लेकिन गांव से शहर के बीच भारी वाहनों की मौजूदगी के कारण सड़क पर चलने से डर लगता है। वहीं, कल्लू राजपूत ने कहा कि महोबा रोड पर हर दूसरे दिन कोई न कोई बड़े वाहन की चपेट में आकर घायल हो रहा है। कई लोग तो जान भी गंवा चुके हैं।
बस स्टैंड इलाके पर फोकस
शहर में रिंग रोड जल्द बनाने के लिए हस्ताक्षर अभियान चला रही बजरंग सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष रणवीर पटेरिया का कहना है कि शहर में सबसे ज्यादा समस्या बस स्टैंड इलाके में है। इस इलाके लोग इस समस्या का समाधान जल्द चाहते हैं। बजरंग सेना भी अब इस इलाके पर फोकस करेगी, ताकि इस इलाके के ज्यादा से ज्यादा लोग अभियान से जुड़कर अपनी आवाज बुलंद कर सकें। बजरंग सेना के तनुज गंगेल का कहना है कि जनप्रतिनिधियों व प्रशासन तक जनता की आवाज और मांग पहुंचाने का ये अभियान लगातार जारी रहेगा।

Dharmendra Singh
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned