नाबालिग को जलाकर मारने के मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो

नाबालिग को जलाकर मारने के मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो
The case of the burning of a minor is heard in the fast track court.

Hamid Khan | Updated: 12 Jun 2019, 09:10:13 PM (IST) Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

टीआई को व प्रदर्शकारियों पर दर्ज मामले हटाने की मांग, सौंपा ज्ञापन

टीआई को व प्रदर्शकारियों पर दर्ज मामले हटाने की मांग, सौंपा ज्ञापन
छतरपुर. विगत दिनों नौगांव में नाबालिग लड़की को जलाकर मारने के मामले में मंगलवार को विभिन्न संगठनों ने प्रदर्शन किया। संगठनों द्वारा सौंपे गए ज्ञापन में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केस वापस लेने, टीआई को हटाने और मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराने की मांग की गई है। गौरतलब है कि नौगांव में नाबालिग लड़की को युवक द्वारा मिट्टी का तेल डालकर जला दिया गया। इलाज के दौरान उसकी मौत के बाद नौगांव में लोगों ने नेशनल हाइवे जाम कर प्रदर्शन किया था। इस मामले में अब विभिन्न संगठन अलग-अलग मांगों को लेकर ज्ञापन सौंप रहे हैं।
भाजपा: भारतीय जनता पार्टी द्वारा जिला अध्यक्ष मलखान सिंह के नेतृत्व में जिले में बिगड़ती कानून व्यवस्था के संबंध में मुख्यमंत्री के नाम एसपी को ज्ञापन सौंपा गया। मांग पूरी नहीं होने पर पार्टी द्वारा उग्र प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी गई है। इस मौके पर प्रमुख रूप से पूर्व मंत्री ललिता यादव, पूर्व विधायक उमेश शुक्ल, पूर्व जिला अध्यक्ष पुष्पेंद्र प्रताप सिंह, जय नारायण अग्रवाल बैंक अध्यक्ष करुणेन्द्र प्रताप सिंह, जिला उपाध्यक्ष सुरेंद्र चौरसिया, जिला महामंत्री जयराम चतुर्वेदी, जिला महामंत्री अरविन्द पटेरिया, कैलाश रावत विनोद टिकरिया, सूरजदेव मिश्रा, अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश मंत्री जावेद अख्तर, किसान मोर्चा के प्रदेश मंत्री अभिनेंद्र पटेरिया, जिला मंत्री मोनू यादव, अरविन्द बुन्देला, उर्मिला साहू, कमलेश राय, भारती साहू, ममता अहिरवार समेत सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी मौजूद रहे।

शिवसेना: शिवसेना जिला प्रमुख मुन्ना तिवारी ने बताया कि छतरपुर जिले में लगातार अपराध बढ़ रहे हैं, नौगांव में हुई इस घटना ने दिल दहला दिया है। ज्ञापन में कहा गया है कि टीआई याकूब खान की भूमिका संदिग्ध रही, इसलिए टीआई को नौगांव से हटाया जाए। इसके साथ ही प्रदर्शन करने वाले लोगों पर दर्ज की गई एफआइआर को वापस लिया जाए। पीडि़त परिवार को 5 लाख रुपए शासन से दिलाए जाने की मांग भी की है। इसके साथ ही मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में करने की मांग भी की है। ज्ञापन देने वालों में रामसेवा समिति से आलोक टिकरया, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष जयनारायण अग्रवाल, लाल कड़क्का समिति से नरेंद्र चतुर्वेदी, पूर्व संभाग प्रमुख पवन सोनी, उपाध्यक्ष अज्जू साहू, विद्यार्थी सेना अध्यक्ष नीतेश तिवारी, युवा सेना अध्यक्ष विशेष दुबे, संदीप सोनकिया, गोविंद दुबे, अंकुर नामदेव, प्रमोद श्रीवास, मनोज विश्वकर्मा, सोनू गुप्ता उपस्थित रहे।
बजरंग सेना: बजरंग सेना ने डीआइजी के नाम ज्ञापन देते हुए बजरंग सेना ने नेशनल हाइवे पर प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ दर्ज केस वापस लेने और नौगांव टीआइ को हटाने की मांग की है। आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned