मनाया गया मकर संक्रांति का पर्व, पुण्य स्नान व दान के साथ रही पर्व की धूम

कोविड के कारण इस बार खजुराहो में कम रही भीड़, जटाशंकर में दोपहर बाद बढ़ी भीड
बड़े मेलों का भी नहीं हुआ आयोजन, ग्रामीण अंचल में लगे छोट-छोटेे मेला

By: Dharmendra Singh

Published: 14 Jan 2021, 07:44 PM IST

छतरपुर। सूर्य के राशि परिवर्तन के उत्सव मकर संक्रांति को पूरे जिले में मनाया गया। सुबह 8 बजकर 13 मिनट पर शुरु हुए पुण्यकाल के साथ ही धार्मिक स्थलों पर स्नान दान के साथ ही घरों में पुण्य स्नान की शुरूआत हो गई, जो दोपहर बाद तक चलता रहा। जिले के बांधों में भी पुण्य स्नान के लिए लोगों की भीड़ जुटी। जिलेभर में कई स्थानों पर मकर संक्रांति के अवसर सामूहिक स्नान किया गया।

जटाशंकर में दोपहर बाद बढ़ी भीड़
जिले के धार्मिक स्थल जटाशंकर में मकर संक्रांति के अवसर पर लोगों की भीड़ उमड़ी, हालांकि हर वर्ष की तरह इस बार ज्यादा भीड़ नहीं थी। सूर्यादय के साथ ही लोग जटाशंकर मंदिर प्रांगण में बड़ी संख्या में आए और स्नान करने के बाद जल चढ़ाया। बुधवार को आमवस्या पर लोगों की भीड़ रही, लेकिन मकर संक्रांति पर सुबह के समय अमावस्या की अपेक्षा कम लोग जटाशंकर पहुंचे। सुबह से ही लोगों का मंदिर पहुंचने का सिलसिला शुरु हो गया, लेकिन दोपहर बाद जटाशंकर में अचानक भारी भीड़ उमड़ी। सुबह का नजारा देखकर लगा कि इस बार भीडड कम रहेगी, लेकिन दोपहर बाद आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा

मतंगेश्वर को जल चढ़ाया, मेला में खरीदारी भी की
खजुराहो के प्रसिद्ध चंदेलकालीन शिवसागर तालाब में भक्तों ने डुबकी लगाकर मतंगेश्वर महादेव को जल चढ़ाया। मतंगेश्वर महादेव को जल चढ़ाने के बाद खिचड़ी तिल के लड्डुओं सहित अन्य सामग्रियों का दान किया इस मौके पर खजुराहो में मकर संक्रांति का मेला भी भरा, जिसमें लोग जरूरतों के सामान खरीदते नजर आए। इसी तरह कुटने नदी के किनारे स्थित पातालेश्वर महादेव मंदिर के मेले में भी आसपास के गांव के लोगों की भीड़ उमड़ी। ग्राम घूरा के नजदीक रांठिया का मेला लगा।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned