video नशाखोरी का अड्डा बना शौचालय शाम ढलते ही लगता है शराबियों का जमावड़ा

नगर पालिका और अस्पताल प्रशासन की अनदेखी से शौचालय में हो रही गंदगी

By: Unnat Pachauri

Published: 10 Mar 2019, 04:00 AM IST

छतरपुर। शहर के बीचोंबीच लोगों की सुविधा के लिए बनाए गए शुलभ शौचालयों में वहां के ठेकेदारों द्वारा लापरवाही की जा रही है। आम जन के लिए बनाए गए यह शौचालय काफी जर्जर और गंदगी पूर्ण हो चुके हैं। जिससे आस लोग तो वहां जाना कम ही पसंद करते हें लेकिन इसका फायदा शराबखोरी करने वाले लोगों मिल रहा है। प्रतिदिन शाम ढ़लते ही शहर के छत्रसाल चौराहा में बने शौचालय में और जिला अस्पताल में बने शौचालय में शराब के जाम छलकाए जा रहे हैं। लेकिन इस ओर न तो ठेकेदार द्वारा कोई ध्यान दिया जा रहा है और प्रशासन द्वारा ध्यान दिया जा रहा है। जिससे वहां पर शाम होती ही आसमाजिक तत्वों का जमवाडा लग जाता है और शराबखोरी की जाती है। शहर के छत्रसाल चौक में करीब डेढ़ दो वर्ष पहले आम लोगों के लिए शुलभ शौचालय का निमार्ण कराया गया था। उस समय नगर पालिका द्वारा सुव्यवस्थित शौचालय बनाकर ठेकेदार को संचालन के लिए दिया गया। लेकिन कुछ ही समय में शौचालय गंदगी से भरपूर हो गया और आम लोगों को वहां गंदगी होने कम ही जाते हैं। वहीं जिला अस्पताल में बने शौचालय में भी सुबह से रात तक आसमाजिक तत्वों का जमवाड़ा बना रहता है।

जिला अस्पताल में बना आसमाजिक तत्वों का अड्डा
जिला अस्पताल में सिविल सर्जन कार्यालय के पास मरीजों की सुविधा के लिए बना शुलभ शौचालय इन दिनों आसमाजिक तत्वों का स्थान बना हुआ है। यहां पर सुबह से रात तक आसमाजिक तत्व बैठे रहते हैं और कभी शराब खोरी तो कभी जुएं में हार जीत के दांव लगाते हैं जिससे यहां पर आने वाले मरीजों के परिजनों को खासी दिक्कत होती है। ऐसे में शाम होते ही लोगों का शौखलय में आना पूरी तरह से बंद हो जाता है और इसके बाद शराबियों की महफिलें जमतीं हैं और जाम पर जाम छलकते हैं। हालाकि इसकी जानकारी होने के बाद भी अधिकारी ठेकेदार पर मेहरवान हैं।
्र
एक साल में टूटे नल और गेट
शहर के लोगों की कई सालों के मांग के बाद नगर पालिका द्वारा शहर के छत्रसाल चौराहा में बीएसएनएल कार्यालय के किनारे शुलभ शौचालय का निर्माण कराया गया और वहां पर लोगों के लिए बेहतर व्यवस्थाऐं की गई। इस शौचालय का संचालन करने के लिए ठेका दिया गया। जिसकी जिम्मेवारी वहां पर मेंटिनेंश और संचालन था। लेकिन ठेकेदार द्वारा संचालन पर ही ध्यान दिया गया और अच्छी कमाई की जा रही है। लेकिन शौचालय के मेंटिनेंश पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। जिससे अब वह शुलभ शौचालय बाहर से कुद और व अंदर से कुछ और दिखाई दे रहा है। उसके अंदर अधिकांस नल और फ्लस टूट चुके हैं और गंदगी का अंबर है। जिससे आम लोगों का वहां पर कम ही जाते हैं ऐसे में हर रोज शाम को यहां पर भी आसमाजिक तत्वों को आना होता है और वहां पर बैठे कर्मचारियों को खर्चा पानी देकर शौचालय में शराबखोरी और नशाखोरी की जा रही है।

इनका कहना है
मैं अभी किसी काम से छतरपुर से बाहर हूं में जैसे ही लौटकर आता हूं तो इसको दिखवाता हूं और अगर वहां पर कोई भी गलत काम हो रहा है तो सम्बधित पर कार्रवाई कराई जाएगी।
संजेश नायक स्वच्छता प्रभारी नगर पालिका छतरपुर

video नशाखोरी का अड्डा बना शौचालय शाम ढलते ही लगता है शराबियों का जमावड़ा
Unnat Pachauri
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned