शराबी का इलाज कराने ले गई थी पुलिस, फिर ये किया...

Rajesh Kumar Pandey

Publish: Sep, 16 2017 08:48:04 (IST) | Updated: Sep, 16 2017 08:58:13 (IST)

Chhatarpur, Madhya Pradesh, India
शराबी का इलाज कराने ले गई थी पुलिस, फिर ये किया...

शराबी ने ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर के साथ अभद्रता कर मरीजों व उनके परिजनों के साथ मारपीट की।

छतरपुर/नौगांव. नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बीती पुलिस रात एक शराबी शराबी का इलाज कराने ले गई थी। लेकिन पुलिस के जाते ही शराबी ने ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर के साथ अभद्रता कर मरीजों व उनके परिजनों के साथ मारपीट की। अस्पताल में दो घंटे मचा कर उसने अस्पताल परिसर में ही स्थित डॉक्टरों के घरों में भी पहुंच कर हंगामा किया। शुक्रवार की सुबह बीएमओ व डॉक्टरों की शिकायत पर शराबी के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने व अस्पताल में मारपीट करने का मामला दर्ज किया। इसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
जानकारी के अनुसार नगर के वार्ड नं 1 पिपरी निवासी रमेश कुशवाहा उर्फ मच्छर गुरुवार की शाम को 7 बजे बेलाताल रोड स्थित अंग्रेजी शराब के ठेका के पास शराब पीकर उत्पात मचा रहा था। जिसकी शिकायत आसपास के लोगों ने पुलिस से की। मौके पर पहुंची डायल 100 से रमेश कुछवाहा को थाने ले जाया गया। जहां शराब अधिक पीने के कारण रमेश को बेहोशी की हालत में डायल 100 पुलिस द्वारा अस्पताल ले जाया गया। जहां पर डॉक्टरों द्वारा रमेश का इलाज किया जाने लगा और पुलिस रमेश को अस्पताल में छोड़ कर वापस लौट आयी। कुछ देर बाद रमेश ने अपने कपड़े उतार डाले और बेल्ट उतारकर मरीजों व मरीजों के परिजनों के साथ मारपीट करना शुरू कर दी।
इस दौरान अस्पताल में मौजूद ड्यूटी पर स्टाफ ने जब रमेश को रोकने का प्रयास किया तो रमेश ने स्टाफ के साथ भी गली गलौज कर मारपीट करना शुरू कर दी। साथ ही अस्पताल में बिछे पलंगों और गद्दों को फेंकना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद रमेश अस्पताल परिसर में बने डॉक्टर एनके गुप्ता के घर में घुस गया। जहां उसने गाली गलौज की तो वहां आसपास खड़े लोगों ने रमेश को भगने का प्रयास किया। शुक्रवार की सुबह डॉक्टरों द्वारा रात्रि की घटना बीएमओ डॉ. अजय यादव को बताई गई। तब बीएमओ सहित डॉ. एनके गुप्ता, डॉ. केपी त्रिपाठी थाने पहुंचे। जहां रात की घटना को लेकर रमेश कुशवाहा के खिलाफ शिकायती आवेदन दिया। जिस पर पुलिस ने आरोपी रमेश कुशवाहा उर्फ मच्छर के खिलाफ धारा 353, 186 के तहत मामला दर्ज किया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी रमेश को शुक्रवार की सुबह उसके घर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

उत्पात मचाता देख डायल-100 वापस आ गई
उत्पात मचाने की सूचना पर पहुंची डायल 100 ने जैसे ही रमेश को देखा तो वापस लौट गई। इसके बाद रमेश डॉ. केपी त्रिपाठी के मकान पर पहुंचा और चैनल शाटरो में लाते मार कर गाली गलौज करता रहा। रमेश ड्रामा रात को लगभग तीन घंटे चला। जब थाने से पुलिस पहुंची तो रमेश पुलिस को देखकर भाग खड़ा हुआ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned