पुलिसकर्मी ने ही स्ट्रेचर को उठाकर कैदी को कराया भर्ती

जिला अस्पताल में वार्ड ब्वाय नहीं मिला, बिजावर जेल में बाथरूम में गिरा कैदी

 

छतरपुर. जिला अस्पताल में कार्यरत कर्मचारियों की मनमानी इस समय हावी हैं। जिसकी तस्वीर शुक्रवार को ही सामने आई। जब दो पुलिसकर्मी एक मरीज को स्ट्रेचर पर उठाकर वार्ड में भर्ती कराने ले जाते हुए नजर आए। पुलिसकर्मियों ने भले ही इसे अपना काम मानकर इस बीड़ा का उठाया, लेकिन वार्ड ब्वाय ने इस काम को करना जरूरी नहीं समझा। मामले में सिविल सर्जन ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्रवाई की बात कही हैं।
बिजावर जेल में बंदी सिरुआ अहिरवार पुत्र गरीबा को बाथरूम में गिरने के बाद पैर में चोट लगने के बाद शुक्रवार को भर्ती कराया गया था। जिसे आरक्षक प्रभुसिंह व एक अन्य जेल प्रहरी अस्पताल लेकर पहुंचे थे। अस्पताल में उपचार होने के बाद उसे भर्ती करने के लिए लिखा गया। जिस पर वार्ड ब्वाय को वार्ड में भर्ती कराने जाना होता हैं, लेकिन वार्ड ब्वाय के नहीं जाने पर जेल प्रहरी ही स्ट्रेचर उठाकर ले आए और बंदी को वार्ड में भर्ती कराया। मामले में जेल प्रहरी आरक्षकों से बात करना चाही, लेकिन उन्होंने किसी पर आरोप न लगाते हुए इस काम को अपना कर्तव्य बताते हुए मानवता का परिचय दिया। मामले में सिविल सर्जन डॉ. आरएस त्रिपाठी का कहना है कि वार्ड ब्वाय को मरीज को वार्ड तक शिफ्ट कराने के लिए जाना चाहिए। इसके बाद भी अगर लापरवाही हुई है तो कार्रवाई की जाएगी। इसकी जांच कराकर पता करते हैं कि किसकी इस दौरान ड्यूटी थी।

हामिद खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned