डस्ट के गुबार से ग्रामीणों का घुट रहा दम, तबाह हो रहीं फसलें, किसान परेशान

क्रेशर संचालक माइनिंग प्लान की उड़ा रहे धज्जियां

लवकुशनगर. अनुविभाग अंतर्गत प्रकाश बम्होरी इलाके में नियम कानून को ताक पर रखकर संचालित हो रहे क्रेशरों से उड़ रही डस्ट से ग्रामीणो सहित निकलने वाले राहगीरो का दम घुट रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि इन क्रेशरों के आसपास स्थित खेतों की जमीन दिनोदिन बंजर होती जा रही है। किसान फसल की वुबाई हर साल करते है लेकिन उनकी फसल खेतो में ही नष्ट हो जाती है, किसान हर साल बाजार से ऊंचे दामो में बीज खरीदते हैं और फसल खेत मे नष्ट हो जाती है। इधर दिन रात चलने वाली इन क्रेशरों की डस्ट से पूरे इलाके में प्रदूषण जमकर फैला हुआ है। क्रेशर संचालक प्रदूषण रोकने के कोई उपाय नहीं कर रहे हैं। प्रकाश बम्होरी सहित घटहरी, बदौराकला में संचालित क्रेशरों की उड़ रही धूल से स्वांस दमा रोगियों की संख्या में दिनोदिन इजाफा हो रहा है ग्रामीण इन बढ़ रहे मरीजो की संख्या से दहशतजदा है। ग्रामीणों का आरोप है प्रदूषण को रोकने कई बार विभाग को शिकायत की गई लेकिन प्रदूषण विभाग के अधिकारियों ने अब तक कोई एक्शन नही लिया। विनय मिश्रा का कहना है कि निरीक्षण के दौरान पर्याप्त धूल अधिकारियों के सामने ही उड़ती नजर आती है।
क्रेशर संचालकों की मनमानी की शिकायतें मुझे मिली हैं। अनुविभाग स्तर पर एक टीम गठित कर इनकी जांच कराई जाएगी।
अविनाश रावत, एसडीएम, लवकुशनगर

हामिद खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned