घर से गायब महिला विधुर की पत्नी बनकर रह रही थी

Deepak Rai

Publish: Sep, 17 2017 11:48:40 (IST)

Chhatarpur, Madhya Pradesh, India
घर से गायब महिला विधुर की पत्नी बनकर रह रही थी

पति लेने पहुंचा तो साथ जाने से कर दिया मना, पुलिस ले आई थाना, महिला के पहले से दो बेटे और दो बेटियां भी हैं।

छतरपुर/बड़ामलहरा . सिविल लाइन थाना रीवा से एक महीने पहले गायब हुई 4 बच्चों की मां बड़ामलहरा थाना के सड़वा गांव में एक विधुर की पत्नी बनकर रह रही थी। जानकारी पर जब पति लेने पहुंचा तो महिला नहीं आई। तब इसकी सूचना बड़ामलहरा पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस महिला को अपने साथ थाने लाई। फिर इसकी जानकारी रीवा पुलिस को दी गई। तब रीवा पुलिस बड़ामलहरा थाना पहुंची। जहां महिला को उसके पति के सुपुर्द कर दिया। हालांकि रीवा पुलिस महिला व उसके पति को अपने साथ ले गई। वहीं यह मामला महिलाओं की खरीद फरोख्त के धंधे से भी जुड़ा है।
जानकारी के अनुसार पडरी जिला रीवा निवासी बेलाकली यादव (34) एक माह पहले घर से लापता हो गई थी। बेलाकली के दो पुत्र व दो पुत्रियां हैं। खोजबीन के बाद भी जब उसका पता नहीं चला तो पति जोखूलाल यादव ने 23 अगस्त को सिविल लाइन थाना रीवा में शिकायत की। जिसपर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर महिला की तलाश शुरू की। 15 सितंबर को जानकारी मिली कि महिला बड़ामलहरा थाना क्षेत्र स्थित सड़वा गांव के किशोरी (36) पिता लक्ष्मण साहू की पत्नी बनकर रह रही है। जिसपर पति जोखूलाल पत्नी को लेने सड़वा पहुंचा। तब बेलाकली यादव ने जोखूलाल के साथ जाने से मना कर दिया। तब इसकी सूचना बड़ामलहरा थाना पुलिस को दी गई। बड़ामलहरा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को अपने साथ थाने लाई। इसके बाद रीवा पुलिस को बुला लिया गया। रीवा पुलिस की मौजूदगी में पति को उसकी पत्नी बेलाकली सुपुर्द की गई।

स्टांप पर लिखा अब हम तुम्हारे हैं
भले ही 40 हजार रुपए खर्च हुए लेकिन किशोरी-बेलाकली को पाकरखुश था और वह उससे कभी जुदा नहीं होना चाहता था। बेलाकली के गले में मंगलसूत्र, पांव में पायल व अन्य जेवरात पहनाकर उसे अपनी पत्नी स्वीकार लिया था। 24 अगस्त को दोनों ने बिजावर न्यायालय में एक अनुबंध पत्र की नोटरी कराकर अपना शपथ पत्र देते हुए लिखा कि हम दोनों ने एक दूसरे को अच्छी तरह से समझ लिया है और हम अपना भला-बुरा समझने में सक्षम है। दोनों पति-पत्नी के रूप में रहने को राजी हंै।

 

पड़ोसी ने महिला को 40 हजार में बेचा
जोखूलाल यादव ने बताया कि वह चालक है। 15 साल पहले उसकी शादी सीधी निवासी बेलाकली से हुई थी। शादी के बाद उसने दो पुत्र व दो पुत्रियों को जन्म दिया। उसने बताया कि पड़ोस में राजेश अहिरवार रहता है। जो मूलरूप से बड़ामलहरा थाना क्षेत्र के सड़वा गांव का रहने वाला है और रीवा में रहकर वह मजदूरी करता है। मौका पाकर राजेश बेलाकली को लेकर रफूचक्कर हो गया और सड़वा आकर उसने गांव में किशोरी साहू से 40 हजार रुपए लेकर बेलाकली को बेच दिया। बताया जाता है कि किशोरी साहू भी 4 बच्चों का पिता है और पत्नी की मौत होने के बाद से दूसरी शादी करना चाहता था।

सौतन बनकर नहीं मिला सुख
देवकली पिता पन्नालाल साहू ने अनुबंध लेख कराते समय बताया कि वह मूल रूप से अमिलिया जिला सीधी कि निवासी है। सत्रह वर्ष पूर्व उसकी शादी जिला सीधी में रहने वाले शिवपाल साहू के साथ हुई थी। शादी के दो वर्ष बाद अचानक शिवपाल की मौत हो गई। पति की मौत के डेढ़ वर्ष बाद मैंने जोखूलाल यादव निवासी पडऱी जिला रीवा से विवाह कर लिया था। शादी के बाद मालूम हुआ की जोखूलाल पहले से विवाहित है और उसकी पत्नी व बच्चे गांव में रहते हैं। जोखू के बच्चों को मेरी खबर लगते ही मारपीट कर मुझे परेशान करने लगे। जिसपर मैंने यहां से भागने की ठान ली और मौका पाकर मैं पड़ोसी राजेश के साथ भाग निकली।

 

 

संदेह: महिला ने अलग-अलग नाम बताए
महिला की कहानी में कई संदेहास्पद पहलू सामने आ रहे हैं। जहां महिला ने अनुबंध पत्र में अपना नाम देवकली साहू अमलिया जिला सीधी बताया है। वहीं उसके पति जोखूलाल यादव द्वारा उसका नाम बेलाकली यादव बता रहे है। दो अलग-अलग नाम बताने से कहानी संदेहास्पद लग रही है।

रीवा कोतवाली में महिला की गुमशुदगी दर्ज है। महिला को किशोरी साहू निवासी सड़वा के यहां से बरामद किया गया है। महिला ने बताया कि किशोरी ने उसके साथ कोई गलत काम नहीं किया है। महिला को बरामद कर रीवा लेकर जा रहे हैं।
अभय राज सिंह सेंगर, प्रधान आरक्षक कोतवाली रीवा

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned