वर्ष 2016 से अबतक तीन बार बढ़ाया समय, फिर भी अमृत परियोजना का घरों तक नहीं पहुंचा पानी

10 हजार की पेनल्टी लगाकर प्रशासन ने दिया फरवरी तक का अल्टीमेटम
11 हजार 590 परिवारों को दिया नल कनेक्शन, पानी का कर रहे इंतजार

By: Dharmendra Singh

Published: 28 Dec 2020, 07:51 PM IST

छतरपुर। शहर के हर घर में नल से पानी पहुंचाने के लिए शुरु हुई अमृत परियोजना वर्ष 2016 से अबतक तीन बार एक्सटेंशन के बाद भी पूरी नहीं हो पाई है। 11 हजार 590 परिवार नल कनेक्शन लेने के बाद से पानी आने का इंतजार कर रहे हैं। अमृत प्रोजेक्ट में 213 किलोमीटर लाइन के बाद एक्सटेंशन में बढ़ाई गई 100 किमी लाइन के बाद अब तक सिर्फ 20 फीसदी का कार्य ही पूरा हो पाया है। वहीं, पानी टंकी के लिए बिजली कनेक्शन, पाइप लाइन बिछाने के लिए खोदी गई सड़कों के रेस्टोरेशन जैसे काम भी अभी तक नहीं हो पाए हैं। ठेका कंपनी के काम में देरी को देखते हुए प्रशासन ने अब सख्ती दिखाते हुए कंपनी पर 10 हजार की पेनल्टी लगाते हुए फरवरी तक काम पूरा करने का अल्टीमेटम दिया है। जिसका असर देखने को मिल रहा है। शहर में बिछाई जाने वाली पाइप लाइन के काम में तेजी आ गई है।

चार साल से चल रहा 75 करोड़ की परियोजना पर काम
शहर में नल से हर घर में पानी पहुंचाने 75.44 करोड़ रुपए की अमृत परियोजना प्रोजेक्ट को वर्ष 2016 में शुरु किया गया था। परियोजना के तहत 8 टंकियों के निर्माण के साथ पचेर घाट पर वाटर ट्रीचमेंट प्लांट के साथ 213 किमी की पाइप लाइन बिछाकर रेस्टोरेशन का कार्य होना था। वर्ष 2019 में प्रोजेक्ट पूरा न होने पर मार्च 2020 तक के लिए कंपनी को छह माह का एक्सटेंशन मिला। बाद में रेस्टोरेशन वर्क निरस्त करके 100 किमी पाइप लाइन प्रोजेक्ट में बढ़ा दी गई। मार्च 2020 के बाद कोरोना का बहाना लेकर कंपनी को दोबारा छह माह का एक्सटेंशन मिला, फिर भी प्रोजेक्ट पूरा नहीं हो पाया। अब कलेक्टर ने कंपनी को 10 हजार रुपए की पेनाल्टी के साथ फरवरी 2021 तक का एक्सटेंशन दे दिया है।

काम पूरा करने के साथ निपटना होगा इन चुनौतियों से
मोटे के महावीर मंदिर में बना 23 लाख लीटर का स्टोरेज प्वाइंट बनाया गया है। जहां 11 हजार केवी के बिजली कनेक्शन को उपग्रेड कर 33 हजार केवी किया जाना है। नगरपालिका ने तीन माह पहले बिजली कंपनी को शुल्क जमा करके आवेदन किया था, लेकिन कनेक्शन नहीं हो पाया है। नगरपालिका के बकाया बिजली बिल को लेकर बिजली कंपनी दवाब बना रही है। इसके साथ ही शहर में खुदी पड़ी 250 किमी से ज्यादा की कांक्रीट सड़कों का रेस्टोरेशन का काम अबतक पूरा नहीं हो पाया है। अबतक सिर्फ 25 फीसदी कार्य ही पूरा हो पाया है

परियोजना के तहत बढ़ी भंडारण क्षमता
स्थान का नाम टंकी की क्षमता

फूलादेवी वार्ड 8 लाख लीटर
एफएम टॉवर 14 लाख लीटर
हनुमान टौरिया 5 लाख लीटर
सीताराम कॉलोनी 4.5 लाख लीटर
ट्रंासपोर्ट नगर 4 लाख लीटर
बगौता पहाड़ी 2.5 लाख लीटर
कचरा प्लांट पहाड़ी 2 लाख लीटर
पीताम्बरा पहाड़ी 4 लाख लीटर

हर हाल में समय से काम पूरा कराने के निर्देश
एक माह में निर्माण कंपनी को हर हाल में प्रोजेक्ट पूरा करने के निर्देश दिए हैं। हम जल्द पूरे शहर को साफ पानी उपलब्ध कराएंगे। पेनल्टी के साथ वर्क पूरा कराया जा रहा है, पाइप लाइन का क्षेत्र बढऩे से समस्या हुई थी। लेकिन समय से काम करा लिया जाएगा।
शीलेन्द्र सिंह, कलेक्टर एवं प्रशासक नगर पालिका, छतरपुर

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned