पानी का संकट, एक कुआं के भरोसे पूरा गांव

पानी का संकट, एक कुआं के भरोसे पूरा गांव

By: Sanket Shrivastava

Published: 18 Apr 2020, 04:35 PM IST

चंदला. क्षेत्र के ग्राम पंचायत बंशिया में इन दिनों लोग कोरोना की महामारी के साथ-साथ पानी पेयजल की समस्या से भी जूझ रहे हैं। गांव में पानी का साधन मात्र कुआं होने से लोग पेयजल के लिए परेशान हो रहे हैं। वहीं कुछ हैंडपंप गांव के बाहर होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बंशिया गांव में ठाकुर, ब्राह्मण, बनिया, यादव, साहू, अनुरागी, अहिरवार, मुस्लिम आदि सभी जातियां निवास करती हैं। जहां पुलिस थाना भी है। गावं की आबादी लगभग 3000 है। लेकिन यहां पर पेयजल की व्यवस्था नहीं है। गांव के लोगों का कहना है कि गर्मियों का आगाज हो गया है, पीने की पानी की व्यवस्था को लेकर ग्राम में 11 शासकीय कुआं और ९ हैंडपंप के माध्यमों से ग्राम की पानी की व्यवस्था है। कुछ सामंत शाही परिवारों की बदौलत पीने के पानी को लेकर ग्राम के आम लोगों के बीच विवाद की नौबत बन रही है, कारण है ग्राम के सभी कुंआ सूख चुके हैं सिर्फ एक मीठा कुंआ ही पानी दे रहा है। जो ग्राम के बीच में है और 9 हैंडपंप हैं जो ग्राम के बाहरी इलाकों में लगे हैं जिनमें सिर्फ 4 हैंडपंपों का ही पानी पीने लायक है। गांव के लोगों ने बताया कि मीठा कुआं में 11 सामंत शाही परिवारों ने समर्सिबल पंप और टुल्लू पंप डालकर महीनों से कुएं का बेतहाशा दोहन करते चले आ रहे हैं। रात दिन पानी का दोहन होने की वजह से कुआं सुबह सूख जाता है। और ग्राम के आम लोगों की घरों की महिलाएं कुएं में पानी लेने जाती हैं और जब उनकी बाल्टी पानी में नहीं डूबती तो बेचारी मायूस होकर खाली वर्तन लेकर अपने घरों के लिए वापस चली जाती हैं। इसकी जानकारी उन्होंने थाना और पंचायत को दी गई। लेकिन इसके बाद भी उन्हें पेयजल की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Sanket Shrivastava Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned