scriptWeather hit, 40 capacity 76 children admited in hospital | मौसम की मार, जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में 40 की क्षमता, 76 बच्चे भर्ती | Patrika News

मौसम की मार, जिला अस्पताल के बच्चा वार्ड में 40 की क्षमता, 76 बच्चे भर्ती


- मौसमी बीमारी के प्रकोप से बढ़ी बीमार बच्चों की संख्या, रोजाना की ओपीडी लगातार एक हजार के पार
- बुखार, निमोनिया, उल्टी-दस्त से पीडि़त ज्यादा, दोपहर 12 से 5 बच्चों को घर से बाहर न जाने देने की डॉक्टर दे रहे सलाह
डेटा डिकोडेड

छतरपुर

Updated: May 07, 2022 06:32:31 pm


छतरपुर। मार्च से लगातार पड़ रही गर्मी के बीच तेजी से बढ़ रही मौसमी बीमारी के साथ ही जिला अस्पताल में बीमार बच्चों की संख्या भी बढ़ गई है। जिला अस्पताल के 40 बिस्तर वाले बच्चा वार्ड में 76 बच्चे भर्ती हैं। ज्यादातर बच्चों को उल्टी-दस्त और बुखार की शिकायत है। इस समय बुखार, निमोनिया, उल्टी-दस्त से पीडि़त बच्चे अधिक आ रहे हैं। हर दिन बड़ी संख्या में बच्चों की जांच कर उपचार दिया जा रहा है। चिकित्सक डॉ. मुकेश कुमार प्रजापति ने बताया कि गर्मी अधिक होने के कारण बच्चे बीमार हो रहे हैं। उन्होंने अभिभावकों को दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक बच्चों को घर में रखने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि बच्चों को ओआरएस का पाउडर को पिलाना चाहिए तथा बाहर के खाद्य पदार्थों का सेवन करने से रोकना चाहिए।
क्षमता से अधिक आ रहे मरीज
क्षमता से अधिक आ रहे मरीज
क्षमता से अधिक आ रहे मरीज
जिले में वायरल फीवर के साथ ही अधित गर्मी के चलते डी-हाइट्रेशन की शिकायत ज्यादा आ रही है। लू लगने के साथ ही उल्टी-दस्त के मरीज सबसे ज्यादा आ रहे हैं। 40 बेड के मेल वार्ड, फीमेल वार्ड में मरीजों की संख्या लगभग दो गुना बनी हुई है। इधर, जिला अस्पताल की ओपीडी का औसत 1000 मरीज रोजाना से ऊपर बना हुआ है। अवकाश के दिन भी 500 मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं। वहीं मौसम के चलते मरीज को ठीक होने में 4 से 5 दिन तक का समय लग जा रही है।
लैब पर भी जांच का भार बढ़ा
जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या बढऩे से रोजाना सेंट्रल लैब में 500 मरीज पहुंच रहे हैं। लैब पर भार बढऩे से आधे मरीजों को जांच रिपोर्ट शाम तक न मिलकर अगले दिन मिल पा रही है। इसी तरह डॉक्टरों के चैंबर के बाहर भी मरीजों की संख्या बढऩे से लाइन में समय अधिक लग रहा है। इसके बाद दवाई की लाइन का भी यही हाल है। एक मरीज को रजिस्ट्रेशन पर्चा बनवाने, डॉक्टर को दिखाने और दवाई लेने में एक घंटे से अधिक का समय लग जा रहा है।

फैक्ट फाइल

तारीख ओपीडी मरीज
06 मई 1175
05 मई 1146
4 मई 1285
3 मई 533
2 मई 1276
1 मई 422

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: मुंबई पुलिस ने जारी किया हाई अलर्ट, अधिकारियों को फिल्ड पर जाने का दिया आदेश, पुणे पुलिस भी अलर्ट परMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.