लड़कियों ने एेसा क्या किया जो हॉस्टल वाडर्न दंग रह गई

अधीक्षका बोली छात्राओं से नहीं मिलने दिया तो युवकों ने किया उपद्रव

By: Samved Jain

Published: 10 Feb 2018, 12:05 PM IST

छतरपुर। सिटी कोतवाली क्षेत्र के कॉलेज तिराहा के पास स्थित सीनियर गल्र्स हॉस्टल में शुक्रवार को छात्राओं और अधीक्षका के बीच हुआ विवाद कोतवाली तक पहुंच गया। जहां पर छात्राओं ने अधीक्षका पर मारपीट करने और छात्रावास से निकालने की धमकी देने का आरोप लगाया तो वहीं अधीक्षका ने छात्राओं पर अनुशासनहीनता और अभद्रता करने का आरोप लगाया है। काफी देर तक चले आरोप प्रत्यारोप के बाद टीआई द्वारा एसडीएम को सूचना देकर थाना बुलाया और मामले को सुलझाने की कोशिश की। काफी देर दोनों पक्षों को समझाने के बाद भी कोई पीछे हटने को तैयार नहीं हुआ तो एसडीएम ने दोनों पक्षों का मामला निपटने के लिए शनिवार को होस्टल में आने की बात कही। कहा कि छात्रावास में डीईओ, एसडीएम सहित उच्चाधिकारी की मौजूदगी में मामले को निपटाया जाएगा।
जानकारी के अनुसार शहर के महाराजा कॉलेज तिराहा के पास स्थित शासकीय अनुसूूचित जाति सीनियर बालिका छात्रावास में शुक्रवार को रात करीब ८ बजे छात्राओं और छात्रावास की अधीक्षका उमा रिछारिया के बीच विवाद हो गया। मामला तब और बढ़ गया तब छात्रावास में कुछ युवक पहुंच गए और अधीक्षका को खरी खोटी सुनाने लगे। जिसपर अधीक्षका ने डायल-१०० को सूचना दी और पुलिस द्वारा युवकों को हिरासत में ले लिया गया। जिसपर छात्रावास की छात्राओं ने का गुस्सा और बढ़ गया। तब दोनों पक्ष सिटी कोतवाली जा पहुंचे और एक दूसरे के खिलाफ शिकायती आवेदन दिए। एक ओर जहां छात्राओं ने अधीक्षका पर मारपीट करने और छात्रावास से निकालने की धमकी देने का आरोप लगाया तो वहीं अधीक्षका ने छात्राओं पर अनुशासनहीनता और अभद्रता करने व मनमाने समय पर छात्रावास में आने जाने शिकायत की। काफी देर तक चले आरोपों के दौरान के बाद न तो छात्राएं समझने के लिए तैयार हुई और न हीं अधीक्षका। जिसके बाद टीआई केके खनेजा ने हालात की नजाकत को देखते हुए इसकी जानकारी एसडीएम रविंद्र चौकसे को दी। सिटी कोतवाली में पहुंचे एसडीएम ने दोनों पक्षों में समझाइश कराने की कोशिश की लेकिन दोनों नहीं माने। तब एसडीएम ने शनिवार को ११ बजे छात्रावास में डीईओ सहित उच्चाधिकारियों की मौजूदगी में मामले को निपटाने की बात कही। इसके बाद दोनों पक्ष वहां से चले गए।
अधीक्षका की बिगड़ी हालत
देर रात तक चले दोनों पक्षों में हुए विवाद के बाद जैसे ही छात्रावास अधीक्षका उमा रिछारिया अपने घर पहुंची तो उनकी हालत बिगड़ गई। जिसपर परिजनों द्वारा उन्हें अस्पताल लाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने उन्हें हाई बीपी की शिकायत बताई।
इनका कहना
मामले को काफी देर तक सुलझाने की कोशिश की गई लेकिन दोनों पक्ष कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे। एसडीएम को बुलाया गया। इसके बाद ये तय हुआ कि शनिवार की सुबह ११ बजे एसडीएम, डीईओ व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर मामले को सुलझाया जाएगा।
केके खनेजा, टीआई सिटी कोतवाली

Samved Jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned