स्कूटी पर सवार होकर निकले मातृ शक्ति, सशक्तिकरण की मिसाल बना आयोजन

स्कूटी पर सवार होकर निकले मातृ शक्ति, सशक्तिकरण की मिसाल बना आयोजन

rafi ahmad Siddqui | Publish: Sep, 11 2018 12:19:31 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

अपनी पहचान से पहचान ही सशक्तिकरण है : लता ऐल्क, महिला सशक्तिकरण दिवस पर हुआ कार्यक्रम

छतरपुर। शहर में सोमवार को महिला सशक्तिकरण दिवस मनाया गया। इस मौके पर शहर में बड़ी संख्या में महिलाओं और युवतियों ने स्कूटी पर सवार होकर रैली निकाली। बाद में मुख्य कार्यक्रम पन्ना रोड स्थित एक होटल आयोजित किया गया। इस आयोजन में भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष लता ऐल्कर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुईं। कार्यक्रम की अध्यक्षता महिला मोर्चा की प्रदेश मंत्री ज्योति दुबे ने की। कार्यक्रम में छतरपुर विधायक एवं राज्यमंत्री ललिता यादव, नौंगाव नगर पालिका अध्यक्ष अभिलाषा शिवहरे, चंदला नगर परिषद अध्यक्ष अनित्या सिंह, हरपालपुर नगर परिषद अध्यक्ष ममता बैसखिया, राजनगर नगर परिषद अध्यक्ष रचना पटैरिया विशेष रूप से उपस्थित रहीं।
कार्यक्रम का शुभारंभ शिवांशी सिंह द्वारा प्रस्तुत की गई मां सरस्वती की वंदना से हुआ। स्वागत भाषण प्रस्तुत करते हुए नगर पालिका अध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह ने कहा कि वे हर वर्ष अपना जन्मदिन महिला सशक्तिकरण के रूप में महिलाओं के बीच ही मनाती आ रही हैं। उन्होंने कहा कि बहुत सी महिलाएं असहाय होने पर परिवार नहीं चला पा रही थीं। महिलाओं की समस्या को देखते हुए उन्होंने आद्या महिला समिति का गठन किया और आज हजारों महिलाएं इस समिति के माध्यम से तमाम प्रकार के काम कर अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण कर रही हैं। उन्होंने कहा कि आज इस मंच से विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा काम कर अपने परिवार और समाज का नाम रोशन करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया जाएगा। मुख्य अतिथि भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष लता ऐल्कर ने कहा कि अपनी पहचान से पहचान ही सच्चा सशक्तिकरण है। उन्होंने कहा कि देश आजाद होने के बाद भी 50 साल तक महिला सशक्तिकरण की दिशा में किसी भी सरकार ने कोई काम नहीं किया और महिलाएं घूंघट में कैद रहने पर मजबूर रहीं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सत्ता संभालते ही महिलाओं को सशक्त करने के लिए ग्राम पंचायतों, नगर पालिकाओं, जनपद पंचायतों में 50 प्रतिशत का आरक्षण कर महिलाओं को सशक्त बनाने का काम किया है। आज शिक्षकों की नौकरी में भी महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है। विधायक एवं राज्य मंत्री ललिता यादव ने कहा कि अर्चना गुड्डू सिंह ने पिछले 9 वर्षों में छतरपुर में विकास के जो काम किए हैं वे अपने आप में मिशाल हैं। उन्होंने कहा कि एक समय हुआ करता था जब मात्र 3 या 4 महिलाएं ही भाजपा में काम किया करती थीं। लेकिन आज सरकार की नीतियों के कारण बढ़ी संख्या में महिलाएं घरों से बाहर निकलकर आ रही हैं। महिला मोर्चा के प्रदेश मंत्री ज्योति दुबे ने कहा कि देवताओं ने भी महिलाओं का सम्मान किया और उन्हें महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी। आज देखा जाये तो खान-पान व्यवस्था से लेकर अर्थ व्यवस्था तक महिलाओं के हाथ में हैं। देवताओं ने खाद्य व्यवस्था के लिए मां अन्नपूर्णा, शिक्षा के लिए मां सरस्वती और युद्ध के लिए मां दुर्गा को तैनात किया था। इस मौके पर महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष द्रोपती कुशवाहा, कमला खरे, उपमा त्रिपाठी, गीता पटैरिया, उर्मिला साहू, भारती साहू, सुमन पाठक, कमलेश राय, पवन सिंह, अंजना राजपूत, विद्या शर्मा, सीता सिंह, प्रियंका त्रिपाठी, वंदना राठौर, जानकी पटेल, प्रभा विश्वकर्मा, ममता सिंह, ऊषा कुशवाहा, किरण रैकवार, आनंद सिंह बुन्देला, अर्चना परिहार, भागवती अग्रवाल, स्नेहहलता, राममूर्ति राजपूत, मनोरमा दुबे, प्रभा वैद्य, बरखा मिश्रा सहित बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थीं।
आकर्षण का केन्द्र रही स्कूटी रैली :
महिला सशक्तिकरण के मौके पर नारी शक्ति द्वारा निकाली गई स्कूटी रैली विशेष आकर्षण का केन्द्र रही। महोबा रोड स्थित वृदांवन गार्डन से शुरू हुई यह स्कूटी रैली फब्बारा चौक, हटवारा, चौक बाजार, छत्रसाल चैराहा, पन्ना नाका होते हुए होटल लॉ कैपिटल पहुंचकर संपन्न हुई। रैली के साथ खुली जीप में महिला मोर्चाी प्रदेश अध्यक्ष लता ऐल्कर, प्रदेश सचिव ज्योति दुबे और नगर पालिका अध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह चल रही थीं। बुन्देली स्वाफे में सजी महिलाओं का हौंसला और जज्बा देखने लायक था। रैली के दौरान दो दर्जन से भी अधिक स्थानों पर लोगों ने स्कूटी पर सवार महिलाओं का पुष्प वर्षा कर आत्मीय और भव्य स्वागत किया। स्कूटी रैली की कमान अंकिता विश्वकर्मा व उनकी टीम ने संभाल रखी थी।

Womens Empowerment Day
Ad Block is Banned