पूना से सागर जा रहे मजदूर ने अनगौर के पास लगाई फांसी

पूना से सागर जा रहे मजदूर ने अनगौर के पास लगाई फांसी

By: Sanket Shrivastava

Published: 16 May 2020, 03:39 PM IST

छतरपुर. कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के चलते देश भर के मजदूरों ने सबसे ज्यादा नुकसान उठाया है। कहीं हादसों में मौतें तो कहीं भूख और प्यास से सड़कों पर चल रहे लाखों मजदूर जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं। महाराष्ट्र के पूना से लौट रहे एक ऐसे ही मजदूर ने जिंदगी से संघर्ष की यह पीड़ा अपनी जान गंवाकर खत्म कर ली। इस मजदूर ने जिले के गुलगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत अनगौर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
गुलगंज थाना प्रभारी धर्मेन्द्र उपाध्याय ने बताया कि संतोष रैकवार तनय नन्नू रैकवार निवासी ग्राम हरदी थाना गढ़ाकोटा जिला सागर महाराष्ट्र के पूना में फंसा हुआ था। वह किसी तरह बीती रात एक ट्रक के माध्यम से छतरपुर जिला मुख्यालय पहुंचा था। यहां से कोई वाहन न मिलने के कारण उसने पैदल ही अपने गांव जाने का रास्ता चुना। सुबह 6 बजे उसे अनगौर के शासकीय अस्पताल के सामने फोन पर बात करते हुए देखा गया और इसके बाद उसने यहीं लगे एक पेड़ से फांसी लगाकर जान गंवा दी। स्थानीय लोगों की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के मोबाइल के आधार पर उसके परिवार को सूचना दी। ग्राम हरदी से मृतक के पिता, पुत्र और भाई मौके पर पहुंच गए हैं। बड़ामलहरा अस्पताल में 40 वर्षीय संतोष का पोस्टमार्टम कराया गया। परिवार के लोगों ने बताया कि संतोष बुरी तरह परेशान था और इसी के कारण उसने यह आत्मघाती कदम उठाया।

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned