ग्रामीणों की मदद के लिए युवा ग्राम शक्ति समितियां का हो रहा गठन

5 दिसंबर से शुरु हुई प्रक्रिया, 20 दिसंबर तक समितियां होना है गठित
ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने और जागरुकता का काम करेंगी समितियां

By: Dharmendra Singh

Updated: 08 Dec 2019, 02:57 PM IST

छतरपुर। सरकारी योजनाओं के लाभ के लिए कई बार जानकारी के अभाव में या कागजात पूरे नहीं होने के कारण लोगों को सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। लोगों को चक्कर लगाने की समस्या से निजात दिलाने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने नई पहल शुरू की है। हर पंचायत में युवा ग्राम शक्ति समिति बनाई जा रही है, जिसमें 11 सदस्य होंगे। ग्राम पंचायतों और सरकारी विभागों के बीच युवा ग्राम शक्ति समितियां समन्वयक के रुप में काम करेगी। यह समिति 11 बिंदुओं पर काम करेगी और इसका कार्यकाल 5 साल तक रहेगा।
20 दिसंबर तक गठित होंगी समितियां
गठन प्रक्रिया 5 दिसंबर से शुरु हो गई है, जो 20 दिसंबर तक चलेगी। यह समिति गांव के श्रमिक, पेंशनर्स, दिव्यांग, निराश्रित, वृद्धों को मदद दिलाएगी। इसके अलावा नशा मुक्ति, बाल विवाह, जुआ, सट्टा पर रोक के लिए काम करेगी। समिति स्वच्छ पेयजल, टीकाकरण, कचरा प्रबंधन, खुले में शौच की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक भी करेगी।
ये होंगे समिति में
समिति में 6 सदस्य ग्रेजुएट और 5 सदस्य 12वीं या अन्य व्यवसायिक कोर्स करने वाले नियुक्त किए जाएंगे। दूरस्थ गांव में एससी, एसटी बहुल पंचायतों में न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 10वीं पास तय की गई है। समिति के सदस्यों का मतदाता सूची में नाम होना अनिवार्य किया गया है। त्रिस्तरीय पंचायतों के चुने जनप्रतिनिधि इसमें सदस्य नहीं होंगे। समिति में 3 महिलाए भी होंगी।
उत्कृ ष्ट कार्य करने पर मिलेगा एक लाख रुपए
हर साल ब्लॉक की उत्कृष्ट काम करने वाली समिति का चयन पुरस्कार के लिए किया जाएगा। बेहतर काम करने वाली समिति को 1 लाख रुपए पुरस्कार मिलेगा। समिति सदस्यों की जानकारी सभी संबंधित विभागों के पोर्टल पर दर्ज होगी। समिति की त्रैमासिक बैठक भी होगी। हर बैठक के लिए 300-300 रुपए खर्च मिलेगा। हर साल 20 अगस्त सद भावना दिवस पर युवा ग्राम शक्ति समिति सदस्यों का सम्मेलन भी आयोजित किया जाएगा।
जल्द पूरी होगी प्रक्रिया
ग्राम पंचायतों और सरकारी विभागों के बीच युवा ग्राम शक्ति समितियां समन्वयक के रुप में काम करेगी। गणन की प्रकिया शुरु की गई है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग सचिव के निर्देश पर प्रक्रिया की जा रही है।
हिमांशु चंद्र, सीइओ, जिला पंचायत

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned