युवाओं ने थामी कुदाली, फावड़े चलाकर नदी में बहाई श्रम की बूंदे

Neeraj soni

Publish: May, 18 2018 01:16:44 PM (IST)

Chhatarpur, Madhya Pradesh, India
युवाओं ने थामी कुदाली, फावड़े चलाकर नदी में बहाई श्रम की बूंदे

नदी के घाट के कुएं का जीर्णोद्धार भी करेंगे शहर के लोग

छतरपुर। शहर की जीवनदायनी सिंघाड़ी नदी पर पत्रिका के अमृतं जलम अभियान के तहत श्रमदान करने के लिए गुरुवार को शहर के युवाओं ने पहुंचकर कमान संभाली। एक घंटे तक युवाओं ने सिंघाड़ी नदी खुदाई की और मलवा निकालकर श्रम की बूंदे बहाई। बाद में युवाओं ने नदी के संरक्षण और पानी बचाने का संकल्प भी लिया। सुबह 7 से 8 बजे तक श्रमदान करने के लिए कई लोग स्वैच्छिक रूप से भी यहां पहुंचे।
गुरुवार को मप्र जन अभियान परिषद से विजयेन्द्र जडिय़ा अपनी टीम के साथ यहां पहुंचे। नगर विकास प्रस्फु टन समिति से नरेंद्र जोशी, अग्रसेन एम्पोरियम से राजेश अग्रवाल , कृष्णा हाई सेकेंडरी स्कूल से सतीश रावत, युवा कायस्थ महासभा से अभिलेख खरे, आदित्य सक्सेना, आशीष खरे, इंजीनियरिंग कॉलेज से रोहित तिवारी, अमित सोनी, सत्यम गोस्वामी, कुलदीप सागर, सतीश रावत, मनीष जैन, परमार्थ जन कल्याण समिति से अजय सोनी, डायल १०० से अंकित खरे, दिलीप सेन, अनूप तिवारी, प्रशिक्षित चतुर्वेदी, देवेंद्र कुमार सुमन, रामचंद्र जोशी, धीरेन्द्र नायक आदि ने श्रमदान किया। सभी युवाओं ने नदी में उतरकर पहले गेंती-फावड़ा से खुदाई करके मलवा निकाला। बाद में श्रृंखला बनाकर उसे बाहर फेंका। एक घंटे तक चले श्रमदान के बाद सभी युवाओं ने घाट पर खड़े होकर सिंघाड़ी नदी को पुनर्जीवित करने का संकल्प लिया।
नगरपालिका ने उठाया मलवा :
नदी से निकल रहे मलवा नगरपालिका ने गुरुवार को यहां से साफ करा दिया। नगरपालिका की टीम ने सुबह से ही पहुंचकर पूरा मलवा उठाकर घाटों की सफाई कर दी। शुक्रवार को नगर पालिका के कर्मचारी सीएमओ के नेतृत्व में श्रमदान में शामिल होंगे। गौरतलब है कि नगरपालिका की जेसीबी मशीन खराब होने के कारण पिछले कई दिनों का मलवा नदी के घाट किनारे पड़ा था। इसको लेकर मप्र जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक आशीष ताम्रकार ने सीएमओ और अध्यक्ष से अलग-अलग बातचीत की थी। इस पर उन्होंने जल्द ही मलवा उठवाने का आश्वासन दिया था।
नदी सूखने पर कुएं से मिलता है शुद्ध जल :
सिंघाड़ी नदी के सूखने के बाद लोगों को यहां घाट पर बने एक कुएं से सालों तक पानी मिलता रहा। लेकिन यह कुआं भी कचरे से लोगों ने भर दिया है। कुएं में अब भी पानी है, लेकिन कचरा के कारण लोग पानी नहीं निकाल पाते हैं। इस उपेक्षित कुएं को उसके पुराने वैभव में लाने के लिए भी कुछ लोगों ने पहल की है। शुक्रवार को कुएं के जीर्णोद्धार के लिए योजना तैयार होगी।
आज यह संगठन करेंगे श्रमदान :
सिंघाड़ी नदी में श्रमदान के लिए शुक्रवार को नगर पालिका के कर्मचारी, आदिम जाति कल्याण विभाग के कर्मचारी पहुंचकर श्रमदान करेंगे। इसके अलावा सेवा भारती की टीम अशोक राय की अगुवाई में श्रमदान करने पहुंचेगी। वहीं हनुमान टौरिया सेवा समिति और ट्रस्ट के लोग कमलेश बरसैंया, नीरज भार्गव के नेतृत्व में श्रमदान करने पहुंचेंगे। इसके अलावा आदर्श हायर सेकेंडरी स्कूल चौबे कॉलोनी से भी लोग श्रमदान करने पहुंचेंगे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned