Krishi upaj mandi: 350 श्रमिकों के जल्द होंगे पंजीयन

कृषि उपज मंडी में आनलाइन लाइसेंस प्रक्रिया

By: sandeep chawrey

Published: 07 Mar 2020, 11:42 AM IST

छिंदवाड़ा. कृषि उपज मंडी कुसमेली में श्रमिकों के आनलाइन लाइसेंस की प्रक्रिया अब जोर पकड़ रही है। प्रबंधन के कड़े निर्देश के बाद अब तक लगभग 350 श्रमिकों ने इसके लिए आवदेन की औपचारिकता पूरी कर दी है। मंडी सचिव का कहना है इन श्रमिकों के लाइसेंस की कार्यवाही जल्द ही पूरी हो जाएगी इसके बाद इन श्रमिकों को शासन की सभी योजनाओं का लाभ मिल सकेगा। ध्यान रहे कृषि उपज मंडी और गुरैया स्थित सब्जी मंडी में एक हजार से ज्यादा हम्माल,श्रमिक काम कर रहे हैें। कुसमेली में इनकी संख्या ज्यादा है। फिलहाल इनमें से ज्यादातर श्रमिकों के लाइसेंस रिन्यूअल नहीं हुए है। इस कारण श्रमिक सरकारी योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभ से वंचित रह रहे हैं। पिछले दिनों प्रबंधन ने इन श्रमिकों को स्पष्ट निर्देश दिए थे कि यदि श्रमिकों के पास लाइसेंस नहीं होगा तो उन्हें परिसर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा न मंडी में काम मिलेगा। इसके बाद लाइसेंस बनाने के लिए कामगार कुछ गंभीर नजर आए। सचिव अशोक डेहरिया का कहना है कि लाइसेंस बनाने में इन श्रमिकों को बहुत लाभ है। अचानक परिवार में किसी की मृत्यु, चिकित्सा सहायता, बच्चों की पढ़ाई के लिए राशि, शादी के लिए आर्थिक मदद जैसी सरकारी सुविधाओं का लाभ लाइसेंस बनने के बाद इन्हें मिल सकता है। प्रबंधन इनकी मदद भी कर रहा है। हम्माल तुलावटी संघ के प्रतिनिधि सुनील डेहरिया ने भी बताया कि मंडी बोर्ड से मिलने वाले लाइसेंस से हम्माल-तुलावटियों को बहुत फायदा मिलेगा। हम भी श्रमिकों को इसके लिए प्रेरित कर रहे हैं।
पिता की मृत्यु पर तुलावटी को दी तत्काल सहायता
शुक्रवार को कुसमेली मंडी में काम करने वाले तुलावटी मनीष यादव के पिताजी की मृत्यु होने पर मुख्यमंत्री अत्येष्टी सहायता योजना के तहत परिवार को 4 हजार रुपए की आर्थिक सहायता प्रबंधन ने दी। मंडी सचिव अशोक डेहरिया ने इस संबंध में तत्काल कार्यवाही करते हुए यह राशि मनीष यादव के हाथों में सौंपी। इस मौके पर सुनील डेहरिया, भारतीय मजदूर श्रमिक संघ के प्रदेश मंत्री राहुल उइके, जस्सू पटेल, मंडी निरीक्षक राजेश उइके, हरिदास इरपाची आदि मौजूद रहे।

sandeep chawrey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned