बड़ी खबर: 53 कोयला खदानों की लीज होगी निरस्त

बड़ी खबर: 53 कोयला खदानों की लीज होगी निरस्त
53 coal mines lease will be canceled

Prabha Shankar Giri | Updated: 15 May 2019, 07:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

पेंच की 30 तथा कन्हान की 23 खदानों के मामले में वेकोलि प्रबंधन को अंतिम कारण बताओ नोटिस भेजा

छिंदवाड़ा. वेकोलि के पेंच और कन्हान एरिया की बंद 53 कोयला खदानों की लीज शासन स्तर पर निरस्त की जाएगी। जिला प्रशासन ने पेंच की 30 तथा कन्हान की 23 खदानों के मामले में वेकोलि प्रबंधन को अंतिम कारण बताओ नोटिस भेज दिया है। इसका संतोषजनक जवाब न दिए जाने पर इसका प्रस्ताव राज्य शासन को भेज दिया जाएगा।
खनिज विभाग के अनुसार लम्बे समय से बंद इन कोयला खदानों को खनिज रियायत नियम 2016 के नियम 12 (10) के तहत कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। इसका संतोषजनक जवाब न दिए जाने पर 10 मई को अंतिम कारण बताओ नोटिस भेजा गया है। खनिज अधिकारी मनीष पालेवार ने बताया कि नोटिस की समयावधि में जवाब न दिए जाने पर खदान लेप्स करने का प्रस्ताव राज्य शासन को भेज दिया जाएगा।
पेंच की ये खदानें बंद
शासकीय वन ब्लॉक नम्बर 10-उमरेठ रेंज, इकलेहरा, बडक़ुही, बडक़ुही-रिछेरा-पिपराज-इकलेहरा, दीघावानी, हर्रई, चरईकलां, लोनी दरबई, इकलेहरा-बरकुही-बम्होरी-चांदामेटा बुटरिया, बरकुही-इकलेहरा-भाजीपानी-बम्होरी, बम्होरी-चांदामेटा, भाजीपानी, भाजीपानी, मायावाड़ी-चिखलीकलां-चांदामेटा, डोंगर चिखली-डोंगर परासिया, डोंगर चिखली-डोंगरी परासिया, शासकीय वन ब्लॉक नम्बर 64 अमरवाड़ा रेंज रावनवाड़ा, चईकलां-बेलगांव-लीखावाड़ी-खैरीकलां, बेलगांव, चांदामेटा-लीखावारी-चिखलीकलां-मायावाड़ी, बरारिया, सिरगोरीखुर्द, दीघावानी, दीघावानी, रावनवाड़ा, ढाला हर्रई, बुटरिया, दीघावानी।

कन्हान की ये खदानें बंद
राखीकोल, कालीछापर-दमुआ, घोरावारीकलां-नंदौरा, घोरावारीकलां-घोरावारी खुर्द, पुरैनाकोठीदेव, कोल्हिया, सगौनिया, पनारा, कोल्हिया-बड़ी दातला-डुंगरिया, बड़ी दातला-डुंगरिया, जामई-बड़ी दातला-शासकीय वन, सुकरी, जुन्नारदेव-नजरपुर, पालाचौरई, पालाचौरई-नजरपुर, अम्बाड़ा, शासकीय वन ब्लॉक नम्बर 10,घोरावाड़ी-रैय्यतवाड़ी शासकीय वन, अम्बाड़ा-इकलहरा, इकलेहरा-अम्बाड़ा, बड़ी दातला, कोल्हिया, जुन्नारदेव विशाला-शासकीय वन, जुन्नारदेव सुकरी-उमरिया फदाली, नजरपुर।

पांच नीलाम रेत खदान निरस्त
जिले की पांच रेत खदान क्रमश: बांकामुकासा, खकराचौरई, पटनिया अमरवाड़ा, झिलमिली और कुहिया की नीलाम रेत खदानों को निरस्त कर दिया गया है। मप्र गौण खनिज नियम 1996 के तहत ठेकेदार द्वारा देय किश्त का भुगतान न करने और नियमों का उल्लंघन करने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। इसका जवाब न दिए जाने पर इन खदानों को निरस्त करने के आदेश जारी किए गए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned