डेढ़ सौ से अधिक किसानों से 70 लाख का गबन, जानिए क्या है मामला

प्राथमिक कृषि सहकारी साख समिति मर्यादित मोरडोंगरी के लिपिक ने डेढ़ सौ से अधिक किसानों के खातों से लगभग 70 लाख रुपए का गबन करने का मामला प्राथमिक जांच रिपोर्ट में सामने आ रहा है।

By: Sanjay Kumar Dandale

Published: 24 May 2020, 05:32 PM IST

पांढुर्ना. प्राथमिक कृषि सहकारी साख समिति मर्यादित मोरडोंगरी के लिपिक ने डेढ़ सौ से अधिक किसानों के खातों से लगभग 70 लाख रुपए का गबन करने का मामला प्राथमिक जांच रिपोर्ट में सामने आ रहा है। आरोपी लिपिक यह गबन वर्ष 2016 से करता आ रहा है। भोले-भाले किसानों की राशि हड़प कर अब तक आरोपी पर कार्रवाई नहीं हो पाई है। हालांकि कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन के कारण मामले की जांच अब तक अधूरी मानी जा रही है। उच्च अधिकारियों का मानना है कि दल की रिपोर्ट पर किसानों से वेरीफाई के बाद ही वे नतीजों पर पहुंचेगे। पत्रिका ने 16 फरवरी के अंक में किसानों के बचत खातों से राशि डकारने का सनसनीखेज खुलासा किया था। जिसके बाद जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के महाप्रबंधक ने जांच के आदेश दिये थे।
जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक सिवनी के प्रबंधक श्रीकांत जैस्वाल के साथ दो मैनेजरों की टीम ने मोरडोंगरी में जांच शुरू की थी। 25 दिनों की जांच के बाद प्राथमिक जांच रिपोर्ट तैयार कर जिला कार्यालय को भेजी गई है। मामले में लगभग 186 किसानों के खातों से 70 लाख की राशि के गबन किये जाने की बात सामने आ रही है।
लिपिक पर कार्रवाई नही होने से गांव वाले परेशान: इधर इस मामले का खुलासा हुए चार माह बीत जाने के बाद भी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक द्वारा आरोपी लिपिक पर किसी प्रकार की कानूनी कार्रवाई के लिए कदम नहीं उठाएं जाने से किसान परेशान है। किसानों का कहना है कि उनके घर में विवाह आयोजन है।
किसानों ने बेटी के गृहस्थी के लिए मेहनत का पैसा सुरक्षित रखा था लेकिन लिपिक ने इसमें सेंध लगाकर गबन कर लिया है। किसानों को उनके खातों में रुपए सुरक्षित है या नहीं इस बात को लेकर बहुत मानसिक तनाव पैदा हो गया है जो आक्रोश बनकर कभी भी फूट सकता है।

Show More
Sanjay Kumar Dandale
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned