झाडिय़ों में छुपाकर रखा 700 बोरी कोयला जब्त

पुलिस और सीआईएसफ एक दूसरे की जवाबदेही बताकर अपना पल्ला झाड़ लेते है।

छिंदवाड़ा. परासिया. क्षेत्र में कोयला का अवैध उत्खनन एवं परिवहन पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। पुलिस कार्रवाई में अवैध उत्खनन एवं परिवहन में शामिल लोगों पर कार्रवाई नहीं होने से कोयले का काला कारोबार जारी है। रावनवाड़ा-शिवपुरी पुलिस ने मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात हरणभटा बंद ओपन कास्ट खदान के पास झाडिय़ों में छुपा कर रखा हुआ 700 बोरी कोयले को जब्त किया है। कार्रवाई में उप निरीक्षक आरपी प्रधान एवं सीआईएसफ के जवान शामिल रहे। गौरतलब है कि पिछले कुछ माह में इन इलाकों से पुलिस ने 2 हजार बोरी से अधिक कोयला लावारिस हालत में जब्त किया है। पेंच क्षेत्र की बन्द कोयला खदान भाजीपानी, शिवपुरी, हरनभटा, पेंच ईस्ट में कोयला उत्खनन का कार्य जोरो पर चल रहा है। इन स्थानों पर बड़ी संख्या में महिलाएं एवं नाबालिग बच्चे काम कर रहे है। कार्रवाई को लेकर पुलिस और सीआईएसफ एक दूसरे की जवाबदेही बताकर अपना पल्ला झाड़ लेते है।
वार्ड क्रमांक तीन के निवासियों द्वारा नगर पंचायत में यह शिकायत की गई थी कि अज्ञात लोगों द्वारा मोक्षधाम के आसपास की जमीन पर अवैध कब्जा कर कच्चा पक्का निर्माण कार्य कर रहे हैं। इस पर कार्रवाई करते हुए तहसीलदार वीर सिंह धुर्वे, सीएमओ आरके शर्मा और थाना प्रभारी केए्स परते की उपस्थिति में शासकीय भूमि से पांच लोगों का अतिक्रमण हटाया गया था। लेकिन अतिक्रमण हटने के दूसरे दिन से ही पुन: उन्हीं लोगों द्वारा पंडाल तानकर शासकीय भूमि पर कब्जा किया जाने लगा है। लेकिन इन कब्जों को लेकर प्रशासन अब सख्त हो गया है ।

arun garhewal Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned