800 गरीबों ने किए आवेदन ,156 की ही बनी राशन पर्ची

गत वर्ष कोरोना काल में ऐसे गरीब परिवार जिनके पास गरीबी रेखा का कार्ड नहीं है।केंद्र सरकार ने इन सभी परिवारों को राशन के लिए स्थायी पात्रता पर्ची बनाकर देने के बारे में कहा था। लेकिन अभी तक मात्र 156 परिवारों को ही पात्रता पर्ची मिली है।

By: Rahul sharma

Updated: 15 Sep 2021, 12:34 PM IST

छिन्दवाड़ा/परासिया. गत वर्ष कोरोना काल में ऐसे गरीब परिवार जिनके पास गरीबी रेखा का कार्ड नहीं है। उन्हें सरकारी दुकान से राशन नहीं मिलता था। सरकार ने उन्हें भी 3 महीने का मुफ्त राशन देने की योजना बनाई और ऐसे 800 परिवारों को राशन मिला। केंद्र सरकार ने इन सभी परिवारों को राशन के लिए स्थायी पात्रता पर्ची बनाकर देने के बारे में कहा था। लेकिन अभी तक मात्र 156 परिवारों को ही पात्रता पर्ची मिली है। जिसमें अधिकांश शहरी क्षेत्र के लोग हैं। इस बारे में खाद्य आपूर्ति निरीक्षक आलोक काछी का कहना है कि गत माह 20 दिन तक सचिवों की हड़ताल के कारण दस्तावेज जमा नहीं हो पाए हैं। जिसके कारण बाकी लोगों की स्थाई पात्रता पर्ची नहीं बन पाई है। वही पता चला है कि पहले जो हितग्राही 2 माह तक राशन नहीं ले पाता था ।उसे 3 माह का एक साथ राशन दे दिया जाता था। लेकिन अब प्रदेश सरकार ने नियम में बदलाव किया है। जिसके अंतर्गत जो हितग्राही एक महीना का राशन नहीं लेगा तो वहां राशन लेप्स माना जाएगा। जिसके कारण गरीबों की परेशानी बढ़ गई है। क्योंकि पैसा नहीं होने के कारण कई लोग हर महीने राशन नहीं ले पाते।

Rahul sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned