90 प्रतिशत स्कूलों में नहीं है आपातकालीन अलार्म

ashish mishra

Publish: Sep, 17 2017 12:43:48 PM (IST)

Chhindwara, Madhya Pradesh, India
90 प्रतिशत स्कूलों में नहीं है आपातकालीन अलार्म

हरियाणा के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई घटना के बाद हर तरफ स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर चर्चा है।


छिंदवाड़ा. हरियाणा के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई घटना के बाद हर तरफ स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर चर्चा है। ऐसे में शहर में भी ‘पत्रिका’ ने पड़ताल की तो कई सच उजागर हुए। सुरक्षा के नियमों को दरकिनार कर स्कूल संचालित हो रहे हैं।
हैरानी की बात यह है कि इसमें निजी स्कूल ही नहीं शासकीय स्कूल भी शामिल हैं। ‘पत्रिका’ ने दस बिन्दुओं पर शहर के ५५ स्कूलों का सर्वे किया। इसमें कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। नियम के अनुसार स्कूलों में प्रर्याप्त सुरक्षा गार्ड नहीं है। ऐसे में स्कूल खुलने से पहले हर एक कक्षाओं में सुरक्षा की जांच करने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। ८० प्रतिशत स्कूलों में कई स्थान पर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि ९० प्रतिशत स्कूल में आपातकालीन स्थिति के लिए अलग से अलार्म सिस्टम नहीं लगाए गए हैंं। अधिकतर स्कूलों में घंटी बजाकर ही क्लास चलने व छुट्टी होने की सूचना दी जाती है। सर्वे में ९५ प्रतिशत स्कूलों के मुख्य द्वार पर टेलीफोन नम्बर अप-टू-डेट पाए गए।

स्टाफ का वेरिफिकेशन भी नहीं
शासन की ओर बार-बार नियम का हवाला देकर सख्ती बरतने के बावजूद भी अधिकतर स्कूल बसों में सुरक्षा के नियम पूरे होते नहीं दिखे। सर्वे में लगभग ४० प्रतिशत स्कूल बसों में कमियां मिलीं। वहीं ९० प्रतिशत स्कूलों में यह भी सामने आया कि स्कूल में सुरक्षाकर्मी सुरक्षा को लेकर सजग नहीं हैं। वे स्कूल के सामने बने फुटपाथ एवं चार दीवारी के आसपास की जांच नहीं करते।

स्कूल वैन में भी सीसीटीवी अनिवार्य
लोक शिक्षण संचालनालय ने स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए गाइडलाइन जारी की है। अब स्कूल बसों के साथ स्कूल वैन में भी सीसीटीवी लगाने के लिए कहा है। इसके अलावा सभी टीचिंग स्टाफ और नॉन-टीचिंग स्टाफ को शपथ-पत्र देना होगा कि उनके खिलाफ किशोर न्याय के तहत कोई मामला दर्ज नहीं है।

वेरिफिकेशन के लिए पहुंच रही पुलिस
‘पत्रिका’ ने शनिवार को ‘७७.९ फीसदी स्कूलों में स्टाफ का पुलिस वेरिफिकेशन तक नहीं होता’ शीर्षक से प्रथम पेज पर खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद शहर की पुलिस भी सक्रिय हुई। स्कूलों में सभी स्टाफ के पुलिस वेरिफिकेशन है या नहीं, इसकी जांच करने कुछ स्कूलों में पुलिस पहुंची। कई जगह पर स्टाफ के वेरिफिकेशन नहीं पाए गए। पुलिस टीम ने उन्हें समय देते हुए जल्द से जल्द वेरिफिकेशन कराने को कहा है।

Ad Block is Banned