फर्रास-चावल खाने से एक बच्ची की मौत

भाई, नानी समेत पड़ोसी दम्पत्ती हुए बीमार, फूडपायजिनिंग का मामला

By: Dinesh Sahu

Published: 29 Mar 2019, 11:43 AM IST

Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

छिंदवाड़ा. नगर के छापाखाना निवासी दो परिवार के पांच सदस्य गुरुवार सुबह 10.30 बजे फूडपायजिनिंग के शिकार हो गए। इसके कारण एक आठ वर्षीय बच्ची की मौत उपचार के दौरान दोपहर 2.30 बजे पीकू वार्ड में हो गई तथा एक अन्य बच्चे की हालत गंभीर बताई जा रही है। फूडपायजिनिंग की वजह से दो महिला तथा एक पुरुष की भी तबीयत बिगडऩे पर उन्हें भर्ती किया गया है। इधर पुलिस ने मामले को जांच में लेकर खाद्य पदार्थों तथा उल्टियों के सेम्पल जब्त किए है।

 

संतोषी पति प्रहलाद चैजकर (पीडि़त बच्चों की नानी) ने बताया कि सुबह उन्होंने फर्रास की सब्जी और रोटी बनाई थी तथा पड़ोसी रामेश्वर और उनकी पत्नी रजनी के घर से दाल चावल लाया गया था। सभी ने साथ मिलकर खाना खाया, जिसके बाद दोनों बच्चे उल्टी करने लगे तो उन्हें इमरजेंसी एंबुलेंस 108 से जिला अस्पताल लाया गया। इधर घटना के संदर्भ में नायब तहसीलदार ने नानी संतोषी के बयान दर्ज किए तथा शव को पोस्टमार्टम के लिए मर्चुरी में रखवाया गया।

वजह छिपाने से उलझा मामला -

खाना खाने के बाद बच्चे उल्टी करने लगे तो उन्हें अस्पताल लाया गया, लेकिन सही वजह नहीं बताने से डॉक्टर इसे गंभीरता से नहीं लिया तथा प्राथमिक उपचार देकर बच्चा वार्ड में भर्ती करवा दिया। इस बीच बच्ची की तबीयत बिगडऩे पर उसे पीआइसीयू (पीकू) में भर्ती किया गया तथा उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। जबकि शरद (दद्दा) की हालत गंभीर बताई जा रही है।

इंदौर में मां करती है मजदूरी -

बताया जाता है कि पिता रामू कोलारे ने मां समेत आरुषी और शरद को कई साल पहले छोड़ दिया, जिसके बाद दोनों बच्चे अपनी नानी संतोषी के साथ रहते है। वहीं मां चंद्रकली परिवार के भरण-पोषण के लिए इंदौर में मजदूरी करती है।

घटना में यह हुए बीमार -

संतोषी पति प्रहलाद चैजकर (50), रजनी पति रामेश्वर ब्रम्हभट्ट (37), रामेश्वर पिता झामू ब्रम्हभट्ट (40), शरद पिता रामू कोलारे उर्फ दद्दू (6) तथा मृतक आरुषी पिता रामू कोलारे (8) शामिल है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned