महिला अधिकारी रिश्वत लेते रंगें हाथों गिरफ्तार, इधर पटवारी भी धराया

महिला अधिकारी रिश्वत लेते रंगें हाथों गिरफ्तार, इधर पटवारी भी धराया
Action of Jabalpur Lokayukta

Prabha Shankar Giri | Publish: Jul, 04 2019 10:51:52 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी ने तीस हजार तो पटवारी ने साढ़े तीन हजार रुपए की मांगी थी रिश्वत

छिंदवाड़ा. जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने बुधवार को ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी परिश्ता धुर्वे एवं पटवारी विजय कुमार राउत को घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी धुर्वे ने कार्यालय के अंदर 30 हजार रुपए रिश्वत लेकर कुर्सी के नीचे दबाए थे। पटवारी राउत को घर के अंदर 3 हजार 5 सौ रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया। दो अलग-अलग टीमों ने कार्रवाई को अंजाम दिया। टीम ने आरोपियतों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा में प्रकरण दर्ज किया है।
मप्र शासन की ओर से किसानों को ट्रैक्टर खरीदने पर अनुदान राशि दी जाती है। एक ट्रैक्टर पर एक लाख 50 हजार रुपए का अनुदान मिलता है। पहले यह राशि किसानों के बैंक खाते में सीधे जमा होती थी, लेकिन अभी यह राशि ट्रैक्टर के डीलर को दी जाती है वह किसानों के खाते में जमा करता है। सिवनी रोड स्थित एक ट्रैक्टर की एजेंसी के संचालक पवन वर्मा निवासी नया बैल बाजार ने बताया कि उन्होंने दो ट्रैक्टर बेचे थे। इसके दस्तावेज अनुदान के लिए मानसरोवर कॉम्प्लैक्स के पीछे स्थित उप संचालक उद्यानिकी विभाग में जमा किए थे। तीन लाख रुपए का अनुदान मिलना है। ग्रामीण उद्यान विस्तार अधिकारी के पद पर पदस्थ परिश्ता धुर्वे ने अनुदान की राशि पर 15 प्रतिशत कमीशन मांगा था। बातचीत के दौरान 10 प्रतिशत कमीशन रिश्वत के रूप में लेने को तैयार हुई। करीब दस दिनों से दोनों के बीच बातचीत चल रही थी। रिश्वत मांगने की शिकायत जबलपुर लोकयुक्त में की थी।


कार्यालय में ही ली रिश्वत
जबलपुर लोकायुक्त डीएसपी दिलीप झरबड़े ने बताया कि महिला अधिकारी परिश्ता धुर्वे ने कार्यालय के अंदर ही 30 हजार रुपए रिश्वत ली। रुपए हाथ में लेकर कुर्सी के नीचे दबाए थे। रुपए जब्त करने के साथ ही टीम ने महिला अधिकारी के हाथ धुलाए तो पानी का रंग गुलाबी हो गया जिसे टीम ने एक बोतल में भरकर रखा है। महिला अधिकारी पिछले दो साल से छिंदवाड़ा में पदस्थ है। कार्यालय के बंद कमरे में कार्रवाई को अंजाम दिया गया। महिला अधिकारी को भी बाहर नहीं निकलने दिया गया। टीम ने पूरी कार्रवाई गोपनीय तरीके से की। लोकायुक्त की टीम ने नकदी रुपए जब्त करने के साथ ही अन्य जानकारियां भी जुटाई हंै। जांच और कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

पटवारी ने रिश्वत के पैसे लेकर घर बुलाया था

लोकायुक्त की दूसरी टीम ने बुधवार दोपहर बाद एक पटवारी के घर छापा मारा। पटवारी को साढ़े तीन हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया। पटवारी ने रुपए लेकर हाथ में लेकर रखे ही थे कि टीम के सदस्य घर में घुस गए। लोकायुक्त ने रुपए जब्त कर पंचनामा तैयार कर कार्रवाई शुरू की। टीम ने बंद कमरे में कार्रवाई को अंजाम दिया। बताया जा रहा है कि किसान दस्तावेज बनवाने के लिए लम्बे समय से परेशान चल रहा था। प्रकरण पंजीबद्ध करने के बाद पटवारी को जमानत मुचलके पर छोड़ दिया गया। उमरेठ तहसील के हल्का नम्बर 7 में पदस्थ एवं बरारीपुरा दास मोहल्ला निवासी पटवारी विजय कुमार राउत (50) को घर में ही 3 हजार 5 सौ रुपए घूस लेते गिफ्तार किया। उमरेठ के ग्राम कोहटमाल निवासी किसान महेंद्र पिता कुंदनलाल सोनी से पटवारी विजय राउत जमीन की बही बनाने, नई खरीदी हुई जमीन का नक्शा एवं बिक्री पत्र बनाने के एवज में 3 हजार 500 रुपए रिश्वत मांगी थी। किसान कुछ समय से परेशान चल रहा था। बातचीत की जानकारी उसने जबलपुर लोकायुक्त को दी। लोकायुक्त के बताए अनुसार किसान ने बातचीत। जबलपुर लोकायुक्त के डीएसपी जेपी वर्मा ने बताया किसान महेन्द्र सोनी को पटवारी ने रिश्वत लेकर घर बुलाया था। लोकायुक्त टीम के सदस्य सादे कपड़ों में पहले से घर के आस-पास घात लगाए बैठे थे। किसान अंदर पहुंचा और रिश्वत दी जिसके कुछ देर बाद एक-एक कर टीम के सदस्य भी घर में घुसे और रिश्वत के रुपए जब्त किए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned